राफेल फोबिया के शिकार हुए राहुल गांधी

 
नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी ने देश के लिए जरूरी राफेल डील पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी के लगातार झूठ और मनगढ़ंत आरोपों पर पलटवार किया। साथ ही कहा कि राफेल विमान के सौदे पर राहुल गाँधी जिस तरह बेशर्मी से लगातार झूठ पर झूठ बोल रहे हैं, यह सरासर गलत और निंदनीय है। वास्तव में ‘राफेल फोबियाÓ के शिकार राहुल गाँधी झूठ की मशीन बन गए हैं। राहुल गाँधी ने प्रधानमंत्री पर अनर्गल आरोप लगाने के चक्कर में मर्यादा की सभी हद को पार कर लिया है।

भापजा के वरिष्ठ नेता एवं केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गाँधी ने जो प्रेस कांफ्रेंस की है, उस पर इतना ही कहा जा सकता है कि यह कुछ और नहीं, सिर्फ और सिर्फ बेशर्मी और झूठ की पराकाष्ठा है। पत्रकारों से बातचीत करते हुए भाजपा नेता ने कहा कि राहुल गाँधी बताएं कि उनके पास एयरबस के इंटरनल ई-मेल कहाँ से आये। प्रधानमंत्री की आलोचना करने के लिए राहुल गाँधी ने एयरबस के जिस ईमेल का जिक्र किया, उसमें लड़ाकू विमान की खरीदारी नहीं, बल्कि किसी हेलीकॉप्टर सौदे का उल्लेख है लेकिन राहुल गाँधी का सत्य और तथ्य से कोई लेना-देना ही नहीं है। उन्होंने कहा कि एयरबस कांग्रेस की यूपीए सरकार के समय कई डील की लॉबीइंग में शामिल भी रही थी। उस पर पहले से ही जांच चल रही है। ऐसा प्रतीत होता है कि राहुल गाँधी इस समय एयरबस जैसी कांग्रेस के कुछ हितधारक कंपनियों के लिए लॉबिस्ट के तौर पर काम कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि यह बताने की जरूरत नहीं है कि राहुल गाँधी का पूरा खान-दान समय-समय पर देश को लूटने में शामिल रहा है। नेशनल हेराल्ड और जमीन घोटाले में माँ-बेटा और जीजाजी बेल पर चल रहे हैं। टैक्स की चोरी के मामले में इनके खिलाफ अलग से मामला चल रहा है। मीडिया रिपोर्टों से यह स्पष्ट है कि कांग्रेस विपक्ष में रहती है तो दलाली से और जब सत्ता में रहती है तो भ्रष्टाचार के जरिये काला धन अर्जित करते हैं। प्रसाद ने कहा कि राहुल गाँधी देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं, लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार भारतीय वायुसेना को मारक फाइटर प्लेन देने के लिए संकल्पित है जिसमें कांग्रेस ने जान-बूझ कर देर की थी क्योंकि उन्हें कमीशन नहीं मिला था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने ईमानदारी और देश प्रेम की मिसाल को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए जिस अमर्यादित भाषा का प्रयोग किया है, उसका उचित प्रतिउत्तर देश की जनता आने वाले समय में कांग्रेस को जरूर देगी।
प्रसाद ने कहा कि गांधी परिवार से आने वाले पूर्व प्रधानमंत्रियों के कार्यकाल के दौरान हुए कई ‘संदेहास्पदÓ रक्षा सौदों को लेकर उनके साथ गंभीर मतभेद हैं, लेकिन हमने उन पर कभी देशद्रोह का आरोप नहीं लगाया गया, जबकि राहुल गांधी ने हमारे ईमानदार प्रधानमंत्री पर आरोप लगाकर स्वयं पर कीचड़ उछाला है। हम जनता के सामने उनके झूठ का पर्दाफाश करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *