Video: एयर स्ट्राइक का सबसे बड़ा सबूत, वीडियो वॉयरल!

Featured Video Play Icon

दिल्ली: यह वीडियो एयर स्ट्राइक का सबूत मांगने वालों के लिए है। पिछले एक हफ्ते से यह वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वॉयरल हो रही है। इस वीडियो को एक एक्टिविस्ट ने ट्विटर पर शेयर किया है। एक्टिविस्ट का दावा है कि एयर स्ट्राइक के बाद आतंकियों के शवों को बालाकोट से खैबर पख्तूनख्वा के इलाकों में ले जाया गया। विडियो कैप्शन में उन्होंने लिखा, ‘भारत के एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी सैन्य अधिकारियों ने 200 से अधिक आतंकियों को दफनाने की बात कबूल की है। आतंकी मुजाहिद को अल्लाह से मिले विशेष सौगात की बात करते हुए कहा कि ये लोग पाकिस्तान सरकार के लिए दुश्मन के खिलाफ काम कर रहे थे। उनके परिवारों को सहयोग देने की बात की।’



वीडियो की पुष्टि नहीं

विडियो में कुछ पाक अधिकारियों को रोते हुए बच्चों को चुप कराते देखा जा सकता है। पीछे किसी की आवाज आ रही हैं, जिसमें एक शख्स कह रहा है कि “यह अल्लाह का करम है। हमारे 200 बंदों को यह मौका मिला”। हालांकि, यह वीडियो कितना सही है इसकी पुष्टि “हम” नहीं कर सकते हैं।

पुलवामा का लिया बदला
14 फरवरी को पुलवामा में 42 सीआरपीएफ जवानों पर हमला कर शहीद कर दिया गया था। जिसके जवाब में 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक की। जिस वक्त एयर स्ट्राइक की गई  वहां 263 आतंकी इकट्ठा थे। हमले के वक्त जैश-ए-मोहम्मद के तकरीबन सभी आतंकी और कमांडरों के पास मोबाइल फोन थे। बताया जा रहा है कि नैशनल टेक्निकल रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (NTRO) आतंकियों के मोबाइल के सिग्नल को बारीकी से ट्रैक कर रहा था।

खुफिया सूत्रों के मुताबिक एयर फोर्स के हमले के बाद सभी मोबाइल सिग्नल गायब हो गए। वायुसेना ने पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में स्थित जैश के ठिकानों पर हमले के लिए पांच दिन तक निगरानी की थी। हमले के दौरान चार मिसाइलों से टेरर कैंप को टारगेट किया गया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *