बिहार, उत्तर प्रदेश में आकाशीय बिजली की चपेट में आकर 28 लोगों की मौत

  • बिहार में 15 लोगों की हुई बिजली गिरने से मौत
  • नीतीश कुमार ने किया मृतकों के परिजनों को चार—चार लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा
  • उत्तर प्रदेश में 13 लोगों ने गवांई जान

नेशनल डेस्क: बिहार और उत्तर प्रदेश में मंगलवार को आकाशीय बिजली गिरने की घटनाओं में 28 लोगों की मौत हो गई। देश के कई भागों में बारिश हुई। वहीं, उत्तर भारत के अधिकतर हिस्सों में मौसम उमस भरा बना रहा। मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुताबिक, अगले तीन-चार दिन देश के अधिकतर भागों में बारिश की संभावना है जबकि अधिकतम और न्यूनतम तापमान में कोई खास बदलाव की संभावना नहीं है। विभाग के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी में बारिश की कमी के चलते अगले दो दिन तक पारा चढ़ने का अनुमान है।

दिल्ली में पिछले पांच दिन से बारिश नहीं हुई है। हालांकि, सप्ताहांत में बारिश होने की संभावना है। इस बीच, बिहार के छह जिलों में आकाशीय बिजली की चपेट में आकर मंगलवार को 15 लोगों की मौत हो गयी। बिहार के गोपालगंज, भोजपुर और रोहतास में तीन-तीन तथा सारण, कैमूर और वैशाली में दो-दो लोगों की मौत अकाशीय बिजली की चपेट में आकर मंगलवार को हो गयी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 15 लोगों की मौत पर गहरी संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने अविलंब मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये का अनुदान देने के निर्देश दिये हैं।

उधर, उत्तर प्रदेश के विभिन्न इलाकों में पिछले 24 घंटे में हल्की से भारी बारिश हुई है। मौसम विभाग ने मंगलवार को बताया कि प्रदेश के कई इलाकों में बारिश के साथ-साथ बिजली चमकने और बादल गरजने की भी घटनाएं हुई हैं। प्रदेश में अलग-अलग जगह आकाशीय बिजली गिरने की घटनाओं में 13 लोगों की मौत हो गई। राहत आयुक्त संजय गोयल ने एक बयान में कहा कि गाजीपुर में चार लोगों की, कौशांबी में तीन, कुशीनगर और चित्रकूट में दो-दो जबकि जौनपुर एवं चंदौली में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संबंधित जिलाधिकारियों को मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए हैं।

विभाग के अनुसार बुधवार को उत्तर प्रदेश के पश्चिमी इलाकों में बारिश नहीं होने और पूर्वी इलाकों में बारिश होने का अनुमान है। उधर, हरियाणा और पंजाब में उमस भरा मौसम बना रहा और इन दोनों राज्यों में अधिकतम तापमान सामान्य सीमा से करीब दो से चार डिग्री सेल्सिलस अधिक दर्ज किया गया। हरियाणा में भिवानी सबसे अधिक गर्म रहा जहां अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पंजाब में पटियाला में सबसे गर्म रहा जहां अधिकतम तापमान 36.7 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विभाग ने हरियाणा और पंजाब के अधिकतर हिस्सों में अगले दो दिन तक उमस भरा मौसम रहने का अनुमान जताया है। वहीं, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल, गुजरात, गोवा और केरल, कर्नाटक समेत देश के कई भागों में बारिश हुई।