…तो PM मोदी के खिलाफ कांग्रेस के समर्थन से मैदान में होंगे भीम आर्मी के चंद्रशेखर?

उत्तरप्रदेश : भीम आर्मी के अध्यक्ष चंद्रशेखर और कांग्रेस महासचिव और यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी के बीच मुलाकात के बाद यूपी के सियासी गलियारों में सरगर्मियां तेज हो गई हैं।  दोनों ही नेताओं के बीच इस मुलाक़ात के सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि कांग्रेस के समर्थन से भीम आर्मी की तरफ से चंद्रशेखर पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से ताल ठोक सकते हैं।

पत्रकारों से बातचीत के दौरान चंद्रशेखर ने इस बात के संकेत भी दिए। उन्होंने कांग्रेस के गठबंधन के सवाल पर कहा कि ’15 मार्च के बाद इस पर कोई फैसला लिया जाएगा’। इस दौरान चंद्रशेखर प्रियंका गांधी की तारीफ भी करते नजर आए। उधर उन्होंने गठबंधन पर खुलकर तो हमला नहीं किया लेकिन कई सवाल भी खड़े करते नजर आए।

पीएम मोदी को हराने के लिए अपना प्रत्याशी मैदान में उतारेंगे
चंद्रशेखर ने कहा कि ‘वे पीएम मोदी को हराने के लिए भीम आर्मी अपना प्रत्याशी मैदान में उतारेगे। उन्होंने कहा कि अगर को सही प्रत्याशी नहीं मिला तो वह खुद पीएम मोदी के खिलाफ वाराणसी से मैदान में उतरेंगे’।

जिसने मुसलामानों की हत्या करवाई, उसे यूपी से जीतकर जाने नहीं दूंगा
चंद्रशेखर ने कहा कि सपा-बसपा का जब गठबंधन हुआ तो भीम आर्मी ने उसका समर्थन किया था। अब मोदी के खिलाफ या तो मायावती लड़ें या फिर अखिलेश यादव लड़ें।  जिसने मुसलामानों की हत्या करवाई, उसे यूपी से जीतकर जाने नहीं दूंगा। अगर कोई खड़ा नहीं होगा, तो मैं उसके खिलाफ चुनाव लडूंगा।  मैं किसी से डरने वाला नहीं हूं। मैं बाबा साहब का बेटा हूं, मेरे साथ पूरा समर्थन हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.