मोदी ने कहा – लॉकडाउन का सख्ती से पालन, उल्लंघन करने वालों के खिलाफ एक्शन

  • लॉकडाउन पर मोदी की टिप्पणी
  • राज्यों सरकारों से मोदी की अपील
  • यह केवल शुरूआत, लड़ाई अभी बाकी: मोदी

    नई दिल्ली: लॉकडाउन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ट्वीट कर अपना विचार साझा किया है। साथ ही पीएम मोदी ने राज्य सरकार को लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने का भी निर्देश दिया है। देश में कोरोना वायरस के मामले में लगातार इजाफा देखते हुए दस से अधिक राज्यों में सरकार ने लॉकडाउन घोषित कर दिया है। इसके बावजूद लोग लगातार घरों से बाहर निकल कर रहे हैं। अब इसपर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सख्ती जताई है। पीएम ने लिखा है कि लोग लॉकडाउन का पालन नहीं कर रहे हैं, सरकारें कानून का पालन करवाएं।

केंद्र सरकार की तरफ से अब एक निर्देश जारी किया गया है, जिसके तहत अगर कोई लॉकडाउन का पालन नहीं करता है तो उसपर कानूनी एक्शन लिया जा सकता है। लॉकडाउन की स्थिति पर प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा, लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें। राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं।

आपको बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों की वजह से दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान समेत देश के 10 से अधिक राज्यों में लॉकडाउन घोषित कर दिया है। लेकिन सोमवार सुबह जो स्थिति दिखी उसमें कई जगह लोग सड़कों पर दिखे। दिल्ली-नोएडा एक्सप्रेस-वे पर तो सोमवार सुबह ही जाम लग गया था, इसी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ट्वीट सामने आया है।

सफल रहा जनता कर्फ्यू
लॉकडाउन से पहले रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था, उसमें भी कई लोग सड़कों पर नज़र आए थे। शाम 5 बजे जब डॉक्टरों-मीडियाकर्मियों-पुलिसकर्मियों का आभार व्यक्त करने के लिए जो थाली और ताली बजाई गई, उस दौरान कई शहरों में लोग सड़कों पर आए और रैली निकालकर तालियां बजाई। इसी के बाद लॉकडाउन को देश के अन्य राज्यों ने भी लागू कर दिया था।

दिल्ली धारा 144 लागू
बता दें कि दिल्ली में भी कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन लगाया गया है, साथ ही धारा 144 लगाई गई है ताकि एक जगह लोग इकट्ठे ना हो पाएं। अगर देश के मामलों की बात करें तो अभी तक भारत में कोरोना वायरस के 400 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं, जबकि देश में 8 लोगों की मौत इस वायरस की वजह से हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.