Breaking News

WFI विवाद पर देर रात नहीं बनी बात! खेल मंत्री अनुराग ठाकुर थोड़ी देर में पहलवानों से करेंगे मुलाकात,

  • अनुराग ठाकुर थोड़ी देर में पहलवानों से करेंगे मुलाकात

  • मंत्रालय से बातचीत से खुश नहीं थे पहलवान

  • बृजभूषण शरण सिंह के इस्तीफे की मांग

(नेशनल डेस्क) कुश्ती संघ और पहलवानों का दंगल गुरुवार देर रात केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के घर पहुंच गया। दो दिन से चल रहे धरने के बीच ठाकुर गुरुवार रात चंडीगढ़ से लौटे और पहलवानों को अपने सरकारी आवास पर डिनर के लिए बुलाया। उन्होंने खिलाड़ियों से करीब पौने चार घंटे बातचीत की और कुश्ती संघ के अध्यक्ष के जवाब का इंतजार करने को कहा। विनेश फोगाट, बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक समेत देश के शीर्ष पहलवानों ने भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष पर यौन उत्पीड़न और मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया है. उन्हें पद से हटाने की मांग को लेकर पहलवान दिल्ली के जंतर-मंतर पर आज भी धरना प्रदर्शन कर रहे हैं.

केंद्रीय खेल मंत्रालय ने इसका संज्ञान लिया है और भारतीय कुश्ती महासंघ से 72 घंटों के भीतर जवाब मांगा है.मंत्रालय की ओर से जारी प्रेस रिलीज के मुताबिक, ‘दिल्ली में ओलंपिक और राष्ट्रमंडल खेलों के पदक विजेताओं सहित अन्य पहलवानों द्वारा किए गए विरोध और एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का संज्ञान लेते हुए, जिसमें पहलवानों ने भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह और कोचों पर महिला पहलवानों के यौन उत्पीड़न के गंभीर आरोप लगाए हैं और महासंघ के कामकाज में कुप्रबंधन का हवाला दिया है, खेल मंत्रालय ने डब्ल्यूएफआई से स्पष्टीकरण मांगा है और उसे रेसलर्स की ओर से लगाए गए आरोपों पर अगले 72 घंटों के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया है.’ बृजभूषण शरण सिंह यूपी के कैसरगंज सीट से बीजेपी के सांसद हैं.

खेल मंत्रालय के अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद पहलवानों ने पहले अपने साथियों से बात की, उसके बाद मीडिया के सामने अपनी बात रखी।ये फोटो बुधवार की है। जंतर-मंतर पर धरने के दौरान साक्षी मलिक (सबसे बाएं), विनेश फोगाट (बीच में) और बजरंग पूनिया। विनेश बात करते-करते भावुक हो गईं।

खेल मंत्रालय ने इस मामले को गंभीरता से लिया है. खेल मंत्री अनुराग ठाकुर शुक्रवार को पहलवानों से मुलाकात करेंगे. इससे पहले पहलवानों ने गुरुवार को अनुराग ठाकुर से मुलाकात की और उनके साथ डिनर किया था. पहलवानों और खेल मंत्री के बीच ये बैठक 10 बजे से करीब पौने दो बजे तक चली. उधर, बृजभूषण शरण सिंह के इस्तीफे पर सस्पेंस बना हुआ है. सूत्रों के मुताबिक, कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को फोन कर 24 घंटे के अंदर इस्तीफा देने का आदेश सुनाया दिया गया है. हालांकि, बृजभूषण शरण का कहना है कि मैं इस्तीफा नहीं दूंगा. मैं किसी भी जांच के लिए तैयार हूं. बृजभूषण शरण ने 12 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है.

जान लें कि देर रात तक केंद्रीय मंत्री के साथ चली मीटिंग में बजरंग पुनिया, बबीता फोगाट, रवि दहिया, विनेश फोगाट, अंशु मलिक और साक्षी मलिक मौजूद थीं. हालांकि, रेसलर्स के कड़े तेवर की वजह से बृजभूषण शरण सिंह पर इस्तीफा देने का दबाव बढ़ गया है. जान लें कि ओलंपिक और अन्य इंटरनेशनल मेडल विजेता रेसलर्स का जंतर-मंतर पर धरना आज भी जारी रह सकता है.

विनेश फोगाट हरियाणा की रहने वाली हैं। वे दंगल फेम महावीर सिंह फोगाट की भतीजी हैं और एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडलिस्ट हैं।

गौरतलब है कि कुश्ती फेडरेशन के खिलाफ रेसलर्स का प्रदर्शन जारी है. प्रदर्शनकारी रेसलर्स का कहना है कि अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह का इस्तीफा लेकर रहेंगे. वहीं खेल मंत्री ने कहा कि आरोप गंभीर हैं, जरूरी कदम उठाएंगे.

इससे पहले रेसलर बजरंग पुनिया ने कहा कि ये कल कह रहे थे कि ये तो 3 प्रतिशत बैठे हैं, 97 फीसदी इनके साथ हैं. पर आज पूरे देश के रेसलर यहां बैठे हैं. पहले हमारे साथ 1-2 लड़कियां ही थीं, आज 5-6 प्रूफ के साथ हमारे साथ हैं. हम पुलिस का सहारा भी ले सकते हैं. हमको रेसलिंग को दोबारा से जीवित करवाना है. जो आरोप हैं वो गंभीर हैं. इसका संज्ञान लेते हुए कुश्ती संघ को नोटिस भेजा गया है.

गुरुवार को कम्युनिस्ट पार्टी की नेता वृंदा करात खिलाड़ियों मंच पर पहुंची तो उन्हें खिलाड़ियों ने नीचे उतरने को कह दिया।

वहीं बृजभूषण सिंह ने कहा कि मेरे ऊपर जो भी आरोप लगाए गए हैं, वह दीपेंद्र हुड्डा और कांग्रेस की तरफ से प्रायोजित हैं. बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि पहलवानों का ये धरना शाहीन बाग जैसा प्रायोजित है. मैं इस्तीफा नहीं दूंगा. उन्होंने कहा कि ये चंद वही खिलाड़ी हैं, जिनका करियर खत्म हो चुका है. वह मेरे ऊपर आरोप लगा रहे हैं. लेकिन मैं किसी भी तरह की जांच के लिए तैयार हूं. उन्होंने कहा कि जब मैंने कुछ किया ही नहीं है तो फिर किसी बात का डर नहीं है.

About Sonal Pandey

Check Also

LIC को तगड़ा झटका, अडानी के शेयर मूल्य में 22 फीसदी की गिरावट

एलआईसी को लगा तगड़ा झटका अडानी के शेयर मूल्य में 22 फीसदी की गिरावट एलआईसी …