Sunday, August 14, 2022
Home दिल्ली देश में भ्रष्...

देश में भ्रष्टाचार की जननी रही है कांग्रेस  : स्मृति ईरानी 

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी ने आम्र्स डीलर संजय भंडारी के साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सीधे संबंध होने के खुलासे पर राहुल गाँधी पर हमला बोला है। साथ ही कहा कि कांग्रेस देश में भ्रष्टाचार की जननी रही है, लेकिन मीडिया के ताजा खुलासे से अब यह सिद्ध हो गया है कि रॉबर्ट-वाड्रा परिवार ने किस तरह से पारिवारिक भ्रष्टाचार को परिभाषित किया है। भाजपा मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि अब राहुल गाँधी के खुद के काले करतूतों की पोल खुलने लगी है। उन्होंने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय द्वारा एच. एल. पाहवा के यहां सर्च के दौरान जब्त दस्तावेज से पता चलता है कि राहुल गांधी ने पाहवा से हरियाणा में औने-पौने दाम में कई एकड़ जमीन खरीदी थी। इससे यह बात भी उभर कर आई कि एच. एल. पाहवा के राहुल गाँधी के साथ आर्थिक संबंध हैं। जमीन के इस खरीद-फरोख्त में राहुल गाँधी के प्रतिनिधि महेश नागर बनते हैं। ये वही महेश नागर हैं जिन्होंने रॉबर्ट वाड्रा के लिए भी हरियाणा और राजस्थान में जमीनें खरीदीं जिसमें रॉबर्ट वाड्रा पर जांच भी चल रही है। भाजपा की वरिष्ठ नेता स्मृति ईरानी ने कहा कि मीडिया के माध्यम से सामने आये तथ्यों में प्रियंका वाड्रा का भी उल्लेख हुआ है। एच. एल. पाहवा के साथ जमीन की खरीद-फरोख्त न केवल राहुल गाँधी ने की, बल्कि श्रीमती वाड्रा से संबंधित कागजात भी पाए गए हैं। एच. एल. पाहवा के यहाँ छापे में मीडिया के हवाले से जो जानकारियाँ देश की जनता को मिली है, उसमें चौंका देने वाली बात यह भी सामने आई है कि पाहवा और राहुल गांधी के बीच हुई लैंड डील को सी. सी. थंपी ने फंड किया था। देश की जनता को यह मालूम होगा कि सी. सी. थंपी पर भी वर्तमान में जांच चल रही है। सी. सी. थंपी की रॉबर्ट वाड्रा और विवादित आम्र्स डीलर संजय भंडारी से मित्रता पहले से ही जगजाहिर है।


स्मृति ईरानी ने कहा कि ताजा खुलासे से यह तथ्य स्पष्ट हो गया है कि सोनिया-मनमोहन की कांग्रेस-नीत यूपीए सरकार के दौरान पेट्रोलियम और रक्षा से संबंधित एक-एक सौदे में संजय भंडारी और सी. सी. थंपी के तार जुड़े हुए हैं। यूपीए सरकार के दौरान पेट्रोलियम और रक्षा सौदों की जांच में पैसों का लेन-देन न केवल रॉबर्ट वाड्रा तक पहुंचा बल्कि अब देश यह भी जान गया है कि जीजा जी के साथ साले जी भी इस फैमिली पैकेज भ्रष्टाचार में संलिप्त हैं।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि नए खुलासों से देश की जनता अब समझने लगी है कि रक्षा सौदों में राहुल गाँधी विशेष रुचि क्यों ले रहे हैं? रक्षा सौदों में राहुल गाँधी की रुचि महज राजनीति नहीं बल्कि आर्थिक और पारिवारिक भी है। राहुल गाँधी को अब देश की जनता को बतलाना होगा कि एच. एल. पाहवा के साथ जमीन के मुद्दे पर उनके और श्रीमती वाड्रा के विशिष्ट संबंध क्यों हैं? कांग्रेस पार्टी को महेश नागर के संबंध में भी देश की जनता को जवाब देना पड़ेगा कि क्या महेश नागर के भाई ललित नागर को जमीन की खरीद-फरोख्त में भ्रष्टाचार में शिष्टाचार के संदर्भ को देखते हुए हरियाणा में विशेष टिकट दी थी?
राहुल गाँधी को जनता को जवाब देना होगा      
केंद्रीय मंत्री ईरानी ने कहा कि अब तक यह माना जा रहा था कि भ्रष्टाचार के कई मामलों में संलिप्त विवादित आम्र्स डीलर संजय भंडारी के संबंध केवल रॉबर्ट वाड्रा से ही थे लेकिन अब देश की जानकारी में यह भी आया है कि ये संबंध रॉबर्ट वाड्रा के साले साहब राहुल गाँधी तक भी पहुँचते हैं। भ्रष्टाचार में जीजा-साले की संजय भंडारी, सी. सी. थंपी और एच. एल. पाहवा के साथ क्या मिलीभगत है, इस पर अब राहुल गाँधी को देश की जनता को जवाब देना होगा। 
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular