Breaking News

आपको भी आते हैं अपने पितरों के सपनें, यहां जानें शुभ हैं या अशुभ ये स्वप्न?

  • पितृ पक्ष के दौरान सपनों आते हैं पितर
  • हर सपने का होता है गहरा मतलब 
  • शुभ या अशुभ होते हैं ये संकेत

धर्म डेस्क: 2 सितंबर से शुरू होकर सितारा सितंबर तक इस साल का पितृपक्ष चलेगा। बताया जाता है यह पूरे 16 दिन पितरों को समर्पित होते हैं जिस दौरान हर कोई अपने पूर्वजों का श्राद्ध पितृ तर्पण तथा पिंडदान करता हुआ नजर आता है।

अक्सर कहा जाता है कि हम जो भी दिन में जो भी कार्य करते हैं रात को हमारे दिमाग में उनमें से बहुत सी चीजें कहीं न कहीं रह जाती हैं। जिस कारण हमें उन्हीं बातों से जुड़े स्वप्न भी दिखाई देने लगते हैं।  पितृपक्ष के दौरान भी कुछ लोगों के साथ ऐसा होता है। जी हां, आप सही समझ रहे हैं। कुछ लोगों को कहते सुना जाता है कि पितृपक्ष के दौरान उन्हें अपने पितरों के स्वप्न में दर्शन होते हैं। जिसे लेकर कुछ लोग व्याकुल हो जाते हैं तो कुछ इसका मतलब समझ नहीं पाते। ऐसे में हम आपके लिए इससे जुड़ी जानकारी लेकर आए हैं कि अगर किसी व्यक्ति को सपने में पितरों के दर्शन होते हैं तो उसका अर्थात क्या होता है?

तो आप भी ज़रूर जानिए कि अगर सपने में आपके पितर दर्शन देते हैं तो इसका मतलब कहीं यह होता है कि वो आपसे बात करना चाहते हैं? या फिर वह आप पर प्रसन्न हैं? या वह आपसे नाराज हैं?

कहा जाता है अगर किसी व्यक्ति को अपने सपनों में पितर हंसते मुस्कुराते हुए, खुशहाल अवस्था में दिखाई देते हैं तो इसका अर्थ यह होता है कि आपके पूर्वज यानि आपके पितर आप वर प्रसन्न हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस स्वपन को शुभ फलदायक माना जाता है। इससे घर में सुख समृद्धि बढ़ती है।

अगर किसी व्यक्ति को सपने में पितर खुशियां मनाते हुए, मिठाई खाते या फिर बांटते हुए नजर आते हैं तो इसका अर्थ यही माना जाता है कि आपके घर में किसी प्रकार का कोई मांगलिक कार्य होने वाला है जिससे आपके घर में खुशियों का आगमन होगा।

अगर किसी व्यक्ति को पितृपक्ष के दौरान स्वपन में अपने पितर दुखी या फिर उनसे नाराज़ दिखाई देते हैं, इसका मतलब होता है कि आपके जीवन में कुछ बुरा होने वाला है तथा आपके पितर आप पर प्रसन्न नहीं हैं। ऐसी अवस्था में जातक की कुंडली में पितर दोष भी पैदा हो जाता है। जिस किसी को जब भी ऐसा सपना आए उसे अगले दिन नहा धोकर शुद्द वस्त्र दारण करके कुछ दान आदि करना चाहिए।

इन सबके अलावा अगर किसी व्यक्ति को सपने में अपने पूर्वज वह पितर उनसे बातें करते दिख जाए तो इसका मतलब होता है कि व आपको आने वाले समय में घटित होने वाली किसी विशेष घटना के बारे में आगाह कर रहे हैं।

क्या है भाद्रपद पूर्णिमा का शुभ समय, इस दिन होती है किसकी पूजा

आज का पंचांग (01 सितंबर, 2020): जानिए किस योग में होगी आज भाद्रपद पूर्णिमा की पूजा

About News Desk

Check Also

Aaj Ka Rashifal 4 Oct 2022: जानें कैसा बीतेगा आपका आज का दिन

जानें इन राशि वालों का कैसा बीतेगा आज का दिन किन राशि वालों को होगा …