Breaking News

इमारत ढहने से कई घायल,लखनऊ में अब तक 14 का रेस्क्यू,सपा एमएलए का बेटा पुलिस हिरासत में

  • लखनऊ में अब तक 14 का रेस्क्यू

  • पुलिस हिरासत में सपा एमएलए का बेटा

  • सभी को सकुशल निकाला जाएगा 

(उत्तरप्रदेश डेस्क)  उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के  हजरतगंज इलाके में मंगलवार शाम एक बहुमंजिला इमारत ढहने से मलबे में दबकर कई लोग घायल हो गए. घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मलबे में तीस से ज्यादा लोग दब गए.  सूचना पर पुलिस, दमकल, एसडीआरएफ और सेना के जवानों ने रेस्क्यू ऑपरेशन कर अब तक दर्जनों लोगों को बाहर निकाल अस्पताल में भर्ती कराया है.  बाकी फंसे लोगों को निकालने के लिए राहत-बचाव कार्य जारी है. हादसे की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित की गई है. जिम्मेदार लोगों को चिन्हित करेगी कमेटी.

jagran

प्रॉपर्टी के मालिक सपा विधायक शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. शाहिद से पूछताछ के बाद  लखनऊ रवाना किया गया जहां पर पुलिस उससे पूछताछ करेगी.बताया जा रहा है कि जमीन का एग्रीमेंट नवाजिश के नाम पर है. एसपी सिटी पीयूष सिंह ने हिरासत में लेने की पुष्टि की है. यजदान बिल्डर ने ये इमारत बनाई थी.

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, बचाव वाहनों को शुरुआत में घटनास्थल तक पहुंचने में मुश्किल हो रही थी क्योंकि सड़क अपेक्षाकृत संकरी थी. हालांकि, जैसे ही हादसे की खबर फैली, स्थानीय निवासियों और आसपास के अन्य आगंतुकों ने अपने चारपहिया वाहनों को सड़क से हटा कर उसे खाली कर दिया. पुलिस ने हालात को देखते हुए अपार्टमेंट तक सड़क पर यातायात प्रतिबंधित कर दिया.

पुलिस ने हालात को देखते हुए दैनिक जागरण चौराहे से वजीर हसन रोड स्थित अपार्टमेंट तक सड़क पर यातायात प्रतिबंधित कर दिया. इस बीच, आस-पास के घरों, अपार्टमेंट और कॉलोनी के निवासी अपनी बालकनी से बचाव कार्यों को देखते नजर आये. इमारत के अधिकांश पड़ोसियों ने मीडिया से बात करने से इनकार कर दिया, क्योंकि उनके चेहरे पर सदमा, डर और दुख साफ नजर आ रहा था.

डीजीपी डीएस चौहान का कहना है कि सभी को सकुशल निकाला जाएगा. उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए ड्रिल किया जा रहा है. डीजीपी ने कहा कि प्राकृतिक आपदा से बिल्डिंग गिरने की आशंका है.

jagran

याजदान बिल्डर ने लखनऊ के डालीबाग क्षेत्र में भी दो अपार्टमेंट का निर्माण कराया था। शाहिद मंजूर पहली बार वर्ष 2002 में सपा के टिकट पर चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे थे। शाहिद वर्तमान में चौथी बार विधायक बने हैं और अखिलेश यादव सरकार में वह श्रम एवं सेवायोजन मंत्री भी रहे। अखिलेश यादव के करीबी शाहिद मंजूर का बेटा नवाजिश रियल एस्टेट के कारोबार से जुड़ा है।

jagran

About Sonal Pandey

Check Also

सीएम योगी ने सनातन धर्म को बताया राष्ट्रीय धर्म, कांग्रेस भड़की

सीएम योगी ने सनातन धर्म को बताया राष्ट्रीय धर्म कांग्रेस का सीएम योगी पर पलटवार …