Breaking News

नेपाल हादसे में मृतक चारों दोस्तों के शव पहुंचे गांव, लाडलों के अंतिम दर्शन भी नहीं नसीब

  • नेपाल हादसे में मृतक चारों दोस्तों के शव पहुंचे गांव

  • किसी का धड़ तो किसी का कपड़ा पहुंचा घर

  • घरवालों को नसीब नहीं हुआ लाडलों के अंतिम दर्शन 

Ghazipur News: नेपाल के पोखरा में हुए विमान हादसे में गाजीपुर के मृतक चारों दोस्तों का शव हफ्तों बाद एंबुलेंस द्वारा आज करीब आठ बजे गांव पहुंच गये। शवों के पहुंचते ही घर पर चीख पुकार मच गया । ये जानकारी क्षेत्र में आग की तरह फैल गई । जैसे जैसे जानकारी लोगों को होती गई । लोग मृतकों के घर पहुंचते गये । हर कोई एक नजर देखना चाहता था ।

किसी का धड़ तो किसी का कपड़ा पहुंचा घर

Nepal Plane Crash: नेपाल हादसे में मृतक गाजीपुर के बरेसर थाने क्षेत्र के अलावलपुर व चकजैनब गांव के चारों दोस्तों अनिल, अभिषेक, विशाल व सोनू के शवों का हफ्तों बाद शिनाख्त हो बाड़ी ताबूत में घर आया लेकिन ताबूत में किसी के धड़ किसी के कपड़े ही आ ।  शरीर के नाम पर चंद टुकड़े ही परिजनों को नसीब हुआ बताया जा रहा है, की विशाल के परिवार को विशाल का सिर्फ धड़ मिला है । वहीं अनिल व अभिषेक के बाड़ी के रूप में जले हुए कपड़े मिले है । वही बची हुई एक बाडी को सोनू जयसवाल का बताया जा रहा है ।

लाडलों के अंतिम दर्शन भी नसीब नहीं

चारों दोस्तों के शव घर पहुंचते ही चारों दोस्तों के परिजन अंतिम दर्शन के लिए बिलख रहे थे की अंतिम बार अपने बच्चों का चेहरा देख ले लेकिन परिजनों को ये भी नसीब नहीं हुआ क्योंकि बाडी के नाम पर मांश के चंद टुकड़े ही ताबूत में आये थे ।  हालांकि की घर पर परिजनों को ये पता नहीं है की ताबूत में बच्चों के शव नहीं बल्कि चंद टुकड़े आये हुए है । नेपाल में जब परिजनों को बाडी शिनाख्त करा कर सौपी गई तो अधिकारियों ने परिजनों को ताबूत खोलने से मना किया था । अधिकारियों ने कहा था की ताबूत को घर पर कुछ घंटे रूकने के बाद अंतिम संस्कार कर दे ।

मुश्किल से हुई चारों की पहचान

शवों का शिनाख्त करने गये परिजनों के साथ कुछ लोगों ने बताया की नेपाल में बड़ी मुश्किल से चारों शवों की शिनाख्त हो पाई । साथ गये लोगों ने बताया की हम लोगों से वहां बताया गया की सोनू का पैर मिला है । जिसपर किसी और ने दावा कर दिया । जो पैर सोनू का बताया गया था वो किसी और को दे दिया गया । वहां पर हम लोगों से कहा गया की सारे शवों के शिनाख्त होने के बाद जो शव बचेगा वहीं सोनू जयसवाल का समझा जायेगा । उसी अंतिम बाडी को लेकर सोनू के परिजन घर आये हुए है । वहीं विशाल शर्मा को उसके उपरी धड़ में फंसे सोने की चैन से उसके भाई ने शिनाख्त की जबकि अनिल व अभिषेक के कपड़ों से पहचाना गया।

About Ragini Sinha

Check Also

सीएम योगी ने सनातन धर्म को बताया राष्ट्रीय धर्म, कांग्रेस भड़की

सीएम योगी ने सनातन धर्म को बताया राष्ट्रीय धर्म कांग्रेस का सीएम योगी पर पलटवार …