Breaking News

स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला करने वालों को होगी सजा, संसद ने पास किया कड़ा कानून

  • राज्यसभा ने स्वास्थ्यकर्मियों के हित में पारित  किया कानून 
  • स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करने वालों को  होगी 5 साल तक की सजा
  • स्वास्थ्य कर्मियों को हिंसा से बचाने के लिए पारित किया कानून

नेशनल डेस्क: कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में जुटे या अन्य किसी महामारी जैसी स्थिति के दौरान स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करने वालों की खैर नहीं। राज्यसभा ने शनिवार को स्वास्थ्यकर्मियों के हित में कानून पारित कर दिया है। इसके तहत स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करने वालों को पांच साल तक की सजा का प्रावधान किया गया है।

अप्रैल में सरकार की ओर से जारी किए गए अध्यादेश को कानून में बदलने के लिए शनिवार को उच्च सदन में स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने महामारी रोग (संशोधन) विधेयक, 2020 पेश किया था। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने महामारी रोग अधिनियम, 1897 में संशोधन की मंजूरी पहले ही दे दी थी। ऐसे में महामारी रोग (संशोधन) अध्यादेश 2020 लाया गया, ताकि स्वास्थ्य कर्मियों के काम करने और रहने के साथ ही संपत्ति को महामारी के दौरान हिंसा से बचाया जा सके।

ये विधेयक यह सुनिश्चित करता है कि, मौजूदा महामारी जैसी किसी भी स्थिति के दौरान स्वास्थ्यकर्मियों के खिलाफ हिंसा या संपत्ति नुकसान के प्रति किसी भी रूप में शून्य सहिष्णुता बरती जाएगी। स्वास्थ्यकर्मियों में सार्वजनिक और नैदानिक स्वास्थ्य सेवा प्रदाता जैसे डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल कार्यकर्ता और सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता शामिल हैं।

About News Desk

Check Also

Chhattisgarh: दुर्ग में बच्चा चोरी का शक होने पर साधुओं की लोगों ने की पिटाई

दुर्ग में साधुओं की लोगों ने की पिटाई लोगों को था बच्चा चोरी का शक …