Breaking News
yogi aditya nath corona

20 से अधिक कोविड केस वाले जिलों में दो प्रशासनिक अधिकारियों की तैनाती: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

  • कोविड केस नेशनल इंडेक्स में यूपी का 7वां स्थान
  • 3 हजार से अधिक सैंपल टेस्ट करने वाला 3 तीसरा राज्य बना यूपी
  • प्रदेश में अबतक 1507 केस, कोरोना से 21 लोगों की मौत
  • कोरोना वायरस के संबंध में अपर मुख्य सचिव, गृह एवं प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने लोकभवन में की प्रेस कॉन्फ्रेंस

लखनऊ, 23 अप्रैल। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 20 से अधिक कोविड केस वाले जिलों में प्रशासनिक अधिकारियों की तैनाती की जाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोविड नियंत्रण को लेकर यह बड़ा निर्देश दिया है। सीएम योगी के नेतृत्व में कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ी जा रही लड़ाई में उत्तर प्रदेश हर दिन नई उपलब्धि हासिल कर रहा है। बुधवार को यूपी ने कोरोना टेस्टिंग में भी नई इबारत लिखी है। एक दिन में 3 हजार से अधिक कोरोना सैंपलों की टेस्टिंग करने वाला यूपी देश में तीसरा राज्य बन गया है। इतना ही नहीं बड़ी जनसंख्या और उसके अनुपात में सीमित संसाधानों के बाद भी देश में कोविड केस इंडेक्स में यूपी 7वें स्थान पर है।

उक्त जानकारी गुरूवार को यहां लोकभवन में कोरोना वायरस के संबंध में किए गए प्रेस कांफ्रेंस में अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी एवं प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने पत्रकारों को दी। अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 20 से अधिक कोविड केस वाले जिलों की विशेष रूप से समीक्षा की है और इन जिलों में 1 प्रशासनिक अधिकारी और 1 स्वास्थ्य विभाग का वरिष्ठ अधिकारी भेजने का निर्देश दिया है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में 20 या 20 से अधिक कोरोना केस वाले 15 जिले हैं। जिनमें इन अधिकारियों को भेजने की तैयारी है। ये अधिकारी 7 दिन तक इन जिलों में कैंप कर लॉकडाउन, मेडिकल व प्रशा​सनिक क्वारंटीन सेंटर, कम्यूनिटी किचन और शेल्टर होम सहित हालात की समीक्षा करेंगे। सीएम योगी ने यह भी निर्देश दिया है कि जिन जिलों में मंडल स्तर पर आईजी और डीआईजी स्तर के अधिकारी की तैनाती नहीं है वहां 1 डीआईजी स्तर का पुलिस अधिकारी भी जाएगा।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी ने गुरूवार को अपनी कोर टीम 11 के सदस्यों के साथ बैठक करते हुए कहा कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के साथ सख्ती से निपटा जाए। सप्लाई चेन में काम कर रहे लोगों की मेडिकल जांच कराने और सप्लाई चेन का दुरूपयोग न हो इसको सुनिश्चित करने का निर्देश भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिया। सीएम योगी ने यह भी निर्देश दिया है कि यमुना एक्सप्रेस—वे, नेशनल हाईवे—2 और मध्य प्रदेश बार्डर से काई भी व्यक्ति आता है तो उन्हें तुरंत पकड़कर क्वारंटीन कराया जाए। साथ ही ऐसे कार्य में लगे वाहनों को जब्त कर लिया जाए।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विशेष निर्देश दिया है कि पुराने राशन कार्ड धारकों के साथ ही नए राशन कार्ड धारकों को हर हालत में खाद्यान्न उपलब्ध कराया जाए। साथ ही 1 मई से शुरू होेने वाले निशुल्क खाद्यान्न वितरण के कार्यक्रम में अंत्योदय लाभार्थियों को 20 किलो गेहूं और 15 किलो चावल प्रति कार्ड वितरित किया जाए। इसके साथ ही मनरेगा, ठेला खोमचा, ई—रिक्शा, पंजिकृत श्रमिक, मजदूरों को 3 किलो गेहूं और 2 किलो चावल देने का आदेश सीएम योगी ने ​जारी किया है।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशन में प्रदेश स्तर पर ई—शिक्षा व लर्निंग के क्षेत्र में वृहद काम हुआ है। प्रदेश के विश्वद्यालयों ने अबतक 93 हजार 65 हजार ई—कंटेंट मुहैया कराया है। जिसको 12 हजार 159 टीचरों ने 2 लाख 65 हजार 442 क्लास के माध्यम से 6 लाख 80 हजार छात्रों को लाभ दिया है। उन्होंने बताया कि इन ई—क्लास में हर रोज 1 लाख 68 हजार से अधिक छात्र शामिल हो रहे हैं। सीएम ने प्रदेश के हर क्षेत्र में अध्ययनरत छात्रों से अपील की है कि वे ई—लर्निंग का भरपूर लाभ लेकर अपनी शिक्षा का विस्तार करें।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रदेश के बड़े निर्माण प्रोजेक्टों को शुरू कर दिया है। जिसमें यूपीडा के तीन बड़े प्रोजेक्ट शामिल हैं। उन्होंने बताया कि 11 हजार 200 करोड़ की लागत से बन रहे पूर्वांचल एक्सप्रेस के निर्माण में 4835 श्रमिकों लगे हैं। इसमें 2122 मशीनें काम कर रही हैं, जो अबतक का रिकार्ड है। इसके अलावा बुदेंलखंड एक्सप्रेव—वे में 4481 और गोरखपुर लिंक एक्सप्रेव7वे में 428 श्रमिक निर्माण कार्य में लगे हैं। पीडब्ल्यूडी में भी 2 हजार 858 करोड़ रूपये के 161 कार्य शुरू कर दिए गए हैं।

प्रदेश में अबतक 1507 केस, 21 लोगों की कोरोना से मौत: प्रमुख सचिव स्वास्थ्य

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में अबतक 1507 केस सामने आए हैं। जिनमें 1299 एक्टिव केस हैं। उपचार के बाद 1507 में से 187 मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो गए हैं और उन्हें घर भेज दिया गया है। हालांकि कोरोना के कारण प्रदेश में 21 लोगों की मौत हुई है। प्रदेश के 56 जनपद कोरोना से प्रभावित हुए हैं, वर्तमान में केवल 45 जिलों में ही कोविड के केस एक्टिव हैं। 1507 में 938 केस तबलीगी जमात व उनके जुड़े लोगों के हैं।

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि बुधवार को 3737 सैंपल को टेस्ट करने के लिए भेजा गया था। जबकि बीते दिनों के अतिरिक्त सैंपलों के साथ बुधवार को कुल 3955 सैंपलों का टेस्ट किया गया। इससे एक दिन में 3 हजार से अधिक सैंपलों का टेस्ट करने की क्षमता रखने वाला यूपी देश में तीसरा राज्य बन गया है। बुधवार को भी पूल टेस्ट के द्वारा 812 सैंपलों का टेस्ट किया गया। उन्होंने बताया कि आइसोलेशन में 1584 और क्वारंटीन में 11 हजार 826 लोगों को निगरानी में रखा गया हैं। प्रदेश में क्वारंटीन बेड की संख्या 16 हजार 869 और आइसोलेशन बेड 10 हजार से अधिक है।

About admin

Check Also

Jammu Kashmir: कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़, 3 आतंकियों को किया ढेर

कुलगाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ मुठभेड़ में 3 आतंकियों को किया …