Breaking News

Delhi: दिल्ली से पाकिस्तानी जासूस गिरफ्तार, हिन्दू शरणार्थी बनकर राजधानी आया

  • दिल्ली से पाकिस्तानी जासूस गिरफ्तार

  • हिन्दू शरणार्थी बनकर राजधानी आया

  • 2016 में मिली थी भारतीय नागरिकता

नेशनल डेस्क: पाकिस्तान के लिए जासूसी कर रहे एक शख्स को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है। हालांकि, हैरान करने वाली बात ये है कि ये जासूस पाकिस्तान से आकर भारत की नागरिकता ले चुका एक हिंदू शरणार्थी है। इस शरणार्थी को ही पाकिस्तान के लिए जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। यह कार्रवाई सीआईडी इंटेलीजेंस पुलिस ने की।

Delhi Police Crime branch arrested a spy for pakistan intelligence agency  ISI | सेना को सब्जी सप्लाई करने वाले पाकिस्तानी जासूस ने उगले कई राज,  पूछताछ में सामने आई चौंकाने ...

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किए गए व्यक्त का नाम भागचंद है और उसका जन्म पाकिस्तान में हुआ था। वह साल 1998 में अपने परिवार के साथ राष्ट्रीय राजधानी में आया था और दिल्ली में संजय नगर का रह रहा था। उसे साल 2016 में भारतीय नागरिकता मिली थी और उसने राजधानी में ही टैक्सी ड्राइवर और मजदूर के रूप में काम करना शुरू किया था। उसके परिवार में बुजुर्ग माता-पिता, बच्चों सहित 8 लोग हैं।

पाकिस्तान से जासूस करने के आरोप में एक ओर दिल्ली से गिरफ्तार | Navyug  Sandesh

DG खुफिया उमेश मिश्रा ने बताया कि वह पिछले तीन-चार साल से अपने पाकिस्तानी हैंडलर के संपर्क में था और उन्हें पैसे के बदले भारतीय मोबाइल नंबर और सिम कार्ड मुहैया करा रहा था।” DG ने बताया कि भागचंद पाकिस्तान में अपने आकाओं को भारतीय नंबर उपलब्ध करवाकर सोशल मीडिया अकाउंट बनाने में उनकी मदद की है। वह अकाउमट बनाते वक्त इन नंबरों से जारी किया गया ओटीपी को उनसे साझा करता था और फिर सिम कार्ड को कपड़ों और मसालों के पैकेट में छिपाकर पार्सल द्वारा मुंबई भेज देता था।

Rajasthan Intelligence caught Pak spy in Delhi got Indian citizenship 6  years ago - राजस्थान इंटेलिजेंस ने दिल्ली में पकड़ा पाक जासूस, 6 साल पहले  ही मिली थी भारतीय नागरिकता

एक और जासूस ने दी थी जानकारी
DG ने कहा कि भागचंद का नाम एक अन्य व्यक्ति नारायण लाल गदरी से पूछताछ के दौरान सामने आया। दरअसल नारायण को पिछले दिनों भीलवाड़ा से गिरफ्तार किया था। पूछताछ के दौरान नारायणलाल ने भागचंद का नाम लेते हुए बताया कि वह पाकिस्तानी जासूसी एजेंसियों को मोबाइल सिम नंबर उपलब्ध करवाता था।

About News Desk

Check Also

Mann Ki Baat: पीएम मोदी की मन की बात कार्यक्रम शुरू, चीतों के नामकरण के मांगे सुझाव

पीएम मोदी की मन की बात का 93 वां एपिसोड आज 23 भाषाओं में कार्यक्रम …