Breaking News

श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना अन्तर्गत कराए जा रहे कार्यों की जिलाधिकारी समीक्षा की

  • जिलाधिकारी ने कार्यों को गुणवत्ता के साथ समय से पूर्ण कराये जाने के दिए निर्देश

  • परियोजना निदेशक को योजना के अन्तर्गत कराये जा रहे कार्यों का नियमित रूप से अनुश्रवण करते रहने के दिए निर्देश

  • कार्यों में तेजी लाते हुए कार्य को समय से पूर्ण कराए जाने हेतु डीएम ने निर्देशित किया है

प्रयागराज। जिलाधिकारी संजय कुमार खत्री की अध्यक्षता में मंगलवार को कैम्प कार्यालय में श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन योजना अन्तर्गत कराये जा रहे कार्यों के प्रगति की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। बैठक में परियोजना निदेशक अशोक कुमार मौर्या ने बताया कि इस योजना के अन्तर्गत द्वितीय चरण में प्रयागराज के दो क्लस्टरों का चयन किया गया है, जिसमें प्रथम क्लस्टर के रूप में बमरौली उपरहार, विकास खण्ड-भगवतपुर तथा द्वितीय क्लस्टर के रूप में बड़ोखर, विकास खण्ड-कोरांव है।

ये भी पढ़ें:-सुनवाई के दौरान आनंद गिरि के अधिवक्ता कोर्ट में नहीं हो सके उपस्थित, 27 जनवरी को तय होगा आरोप

जिलाधिकारी ने बताया कि इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में शहरी सुविधाएं प्रदान करना है। क्लस्टर बमरौली उपरहार में 10 ग्राम पंचायतें तथा क्लस्टर बडोखर में 12 ग्राम पंचायतें चयनित की गयी है। चयनित क्लस्टर की ग्राम पंचायतों में कराये जा रहे कार्यो की प्रगति की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने परियोजना निदेशक सहित अन्य सम्बंधित अधिकारियों को चयनित ग्राम पंचायतों में जाकर कराये जा रहे कार्यों की गुणवत्ता का निरीक्षण करने तथा जहां कार्य की प्रगति धीमी है, वहां पर कार्यों में तेजी लाते हुए कार्य को समय से पूर्ण कराये जाने हेतु निर्देशित किया है।

योजना के अन्तर्गत चयनित ग्राम पंचायतों में कूड़ा निस्तारण में गीले और सूखे कूड़े के अलग-अलग कलेक्शन न कराये जाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए सम्बंधित एडीओ पंचायत तथा एडीपीआरओ का वेतन रोके जाने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देशित किया है कि जब तक सूखे एवं गीले कूड़े का पृथक-पृथक कलेक्शन न प्रारम्भ हो जाये, तब तक इनका वेतन न जारी किया जाये।

इस योजना के तहत विद्यालयों में कराए जा रहे कार्यों का सत्यापन परियोजना निदेशक एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को संयुक्त रूप से करने का निर्देश दिया है। उन्होंने परियोजना निदेशक को इस योजना के अन्तर्गत कराये जा रहे कार्यों का नियमित रूप से अनुश्रवण करते हुए कार्यों को शीघ्रता से गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराये जाने के लिए कहा है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी शिपू गिरि सहित सम्बंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें:-प्रयागराज: मकर संक्रांति के अवसर पर संगम तट पर लगभग 25 लाख हजार श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकी

About Sakshi Singh

Check Also

गोरखनाथ मंदिर : सुरक्षा में तैनात जवानों पर हमला करने वाला आरोपी 8 महीने बाद हुआ दोषी करार

कोर्ट ने अभियुक्त के सजा के बिंदु पर सुनवाई के लिए 30 जनवरी की तिथि …