Breaking News

मिशन चंद्रयान-3 की तैयारी में जुटा ISRO, इस राज्य में चल रहा जोरों-शोरों काम

 

  • चंद्रयान -3 लॉन्च करने की तैयारी में  ISRO
  • अगस्त के अंत या सितंबर की शुरुआत में खत्म हो जाएगा काम 
  • करीब 24.2 लाख रुपये खर्च होंगे

 

नेशनल डेस्क:  देश का अंतरिक्ष संगठन भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) अगले साल चंद्रयान -3 लॉन्च करने वाला है। इसके लिए, बेंगलुरु से लगभग 215 किलोमीटर दूर चित्रदुर्ग में उल्लार्थी कवेलू में चाँद की तरह के क्रेटर या गहरे गड्ढे बनाए जा रहे हैं। उनका उद्देश्य अगले चंद्रयान मिशन के लिए पूरी तैयारी करना है। इसरो के एक सूत्र ने इस संबंध में कहा है, ‘हमने गड्ढे खोदने का काम किया है और इस काम को करने के लिए एक कंपनी को अंतिम रूप देने की तैयारी कर रहे हैं। उम्मीद है कि अगस्त के अंत या सितंबर की शुरुआत में काम खत्म हो जाएगा। इस पर करीब 24.2 लाख रुपये खर्च होंगे। ‘

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ये गड्ढे दस मीटर व्यास वाले और तीन मीटर गहरे होंगे। उन्हें बनाने का उद्देश्य यहां चंद्रयान -3 लैंडर के लिए चंद्रमा जैसी सतह बनाना है। इस प्रक्रिया में, लैंडर के सेंसर का परीक्षण किया जाएगा। इसे लैंडर सेंसर प्रदर्शन परीक्षण कहा जाता है। इसमें लैंडर के ऊपर विमान उड़ाकर सिग्नल भेजे जाएंगे और वहां से यह देखा जाएगा कि लैंडर ठीक से काम कर रहा है या नहीं।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

चंद्रयान -2 का प्रकार देश के अगले मिशन चंद्रमा में कई सेंसर का भी उपयोग करेगा। ये सेंसर लैंडिंग स्पॉट से ऊंचाई का अनुमान लगाने में मदद करेंगे, जिससे यह गति बनाए रख सकेगा और रास्ते में पड़ने वाले पत्थरों से भी बच सकेगा।

 

 

About News Desk

Check Also

शहीद भगत सिंह के नाम से जाना जाएगा चंडीगढ़ एयरपोर्ट, मन की बात कार्यक्रम में PM मोदी ने किया एलान

शहीद भगत सिंह के नाम से जाना जाएगा चंडीगढ़ एयरपोर्ट मन की बात कार्यक्रम में …