Breaking News

कफ सिरप पीने के ये हैं साइड इफेक्ट्स

  • जानलेवा साबित हो सकता है कफ सिरप 

  • कफ सिरप याददाश्त से लेकर फेफड़ें तक को कर देता है कमजोर

  • कफ सिरप पीने के ये हैं साइड इफेक्ट्स

Cough Syrup Side Effects: सर्दियों में खांसी और कफ की समस्या ज्यादा हो जाती है। ऐसे में ज्यादातर लोग कफ सिरप का सहारा लेते हैं। कफ सिरप पीने से कुछ दिनों में इससे राहत मिलने लगती है। हालांकि कफ सिरप जरूर कफ या खांसी को कम कर देते है लेकिन इसके कई साइड इफेक्ट्स भी है। जिसके बारे में आपको पता होना चाहिए। यह कई तरह से सेहत के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। ऐसे में आइए जानते हैं कफ सिरप पीने से होने वाली समस्या और इसके रिस्क के बारे में

कफ सिरप पीने के ये हैं साइड इफेक्ट्स

याददाश्त कमजोर

कफ और खांसी दूर करने के लिए भले ही कफ सिरप असर करता हो लेकिन क्या आप जानते हैं याददाश्त कमजोर का कारण भी कफ सिरप बन सकता है। बता दें कफ सीरप वाली दवाओं में कोडीन होता है जो आपकी याददाश्त को खत्म कर सकता है। ऐसे में आपको सर्दी में होने वाली खांसी की दवाओं से परहेज करना चाहिए। जानकारी के लिए बता दें कि मेडिकल स्टोर में कोडीन वाली दवाओं को ही रखा जाता है जो खांसी में राहत कम देती है और खतरा अधिक होता है। इसलिए जितना हो सके कफ सिरप के सेवन से बचना चाहिए।

सांस लेने में कठिनाई

दरअसल कफ सिरप का सेवन करने के बाद कई बार सांस लेने में कठिनाई होने लगती है। ऐसे में जरूरी ये है कि खांसी होने पर कफ सिरप की जगह आप घरेलू उपाय करें। जब ज्यादा दिनों तक कफ या खांसी ठीक ना हो तो आप डॉक्टर से सलाह लें क्योंकि आपके लिए कफ सिरप दवा नहीं ज़हर साबित हो सकता है।

पाचन तंत्र में गड़बड़ी

कफ सिरप के सेवन से पाचन तंत्र में गड़बड़ी होने तक की समस्या हो सकती है। बता दें कफ सिरप में कई ऐसी चीजें मिलाई जाती हैं जिनका हमारे पेट पर नकरात्मक प्रभाव पड़ता है। जिसकी वजह से पाचन तंत्र भी खराब हो सकता है। ऐसे में आपको कफ सिरप से दूरी ही बनानी चाहिए।

एलर्जी की समस्या

एलर्जी की समस्या का एक कारण कफ सिरप भी हो सकता है। दरअसल अगर आपको किसी चीज की एलर्जी है और आप उसके लिए दवा ले रहें तो कफ सिरप का सेवन आपको सोच समझ कर करना चाहिए। क्योंकि कुछ लोगों को कई बार कफ सिरप के कारण एलर्जी की समस्या होने लगती है। त्वचा में खुजली और इचिंग जैसी समस्या हो सकती है। ऐसे में आपको कफ सिरप से परहेज करना चाहिए।

लंग्स पर बुरा प्रभाव

दरअसल कुछ कफ सिरप में तो अल्‍कोहल भी होता है। ऐसे में इसे ज्‍यादा पिया जाए तो फेफड़ों की कार्यक्षमता पर बुरा असर पड़ता है। साथ ही इससे फेफड़े के पूरी तरह से फैलने और सिकुड़ने की क्षमता कम होती है। इसके अलावा इससे शरीर में ऑक्‍सीजन कम होती है और कार्बन-डाई-ऑक्‍साइड बढ़ जाती है। कफ सिरप के कारण व्‍यक्ति को सिर में दर्द, जी मिचलाना, उल्‍टी, चिड़चिड़ाहट जैसी समस्‍याएं होती हैं।

कफ सिरप से होने वाले रिस्क 

कफ सिरप पीने से सेहत को कई तरह के रिस्क हो सकते हैं। कफ सिरप से लंग्स पर बुरा प्रभाव पड़ता है और दिमाग पर भी यह नकरात्मक प्रभाव डालता है। याददाश्त भी कमजोर हो जाती है। ऐसे में आप कफ सिरप पीने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

कफ दूर करने के घरेलू उपाय 

  • कफ की समस्या से राहत पाने के लिए दिन में 3 से 4 बार गुनगुने पानी से गरारे करें। आप चाहें तो इस पानी में थोड़ा सा सेंधा नमक डाल सकते हैं।
  • छाती और पीठ में गर्म पानी का सेंक करने से भी खांसी और कफ में काफी राहत मिलती है।
  • दरअसल लौंग या अजवाइन को पानी में डालकर या नीलगिरी के तेल की कुछ बूंदें डालकर भाप लें क्योंकि
  • लौंग और इलायची को कफ में रामबाण इलाज माना जाता है। बता दें इससे भी खांसी और कफ में राहत मिलती है।
  • मुलैठी, सौंठ, काली मिर्च और तुलसी के सूखे पत्‍तों को बारीक पीसकर और इसमें गुड़ या शहद को मिक्‍स करके मटर के दाने के बराबर गोलियां बना लें। अब आप इसे दिन में दो बार दो-दो गोलियां चूसकर खाएं। दरअसल इससे भी काफी और खांसी में आराम मिलता है।

About Ragini Sinha

Check Also

Blueberries Benefits: डायबिटीज के हैं मरीज तो जरूर खाएं ब्लूबेरी

ब्लूबेरी खाने के फायदे जानें  डायबिटीज के हैं मरीज तो जरूर खाएं ब्लूबेरी वेट लॉस …