Breaking News

आज का पंचांग (25 अगस्त, 2020)- ग्रहों के हेर-फेर से बन रहा है ये खास योग, व्रत पूजन का मिलेगा दोगुना लाभ

  • ग्रहों से लेकर जानें आज का खास योग व नक्षत्र
  • इस समय आज पूजन करना होगा शुभ
  • आज हैं ललिता सप्मी, दूर्वा अष्टमी तथा महालक्ष्मी व्रत

धर्म डेस्क: आज भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि दिनांक 25 तथा दिन मंगलवार है। पंचांग के अनुसार प्रत्येक वर्ष इस दिन ललिता सप्मी का त्यौहार मनाया जाता है। इस दिन ललिता देवी की विधि वत पूजा करने से राधा रानी व भगवान कृष्ण प्रसन्न होते हैं, तथा जातक के जीवन में आ रही सभी कष्टों का हमेशा-हमेशा के लिए नाश करते हैं। इसके अलावा आज दूर्वा अष्टमी व्रत मनाया जाएगा तथा महालक्ष्मी व्रत प्रारंभ होगा। हिंदू धर्म में दोनों की त्यौहारों को बेहद खास माना गया है।

बता दें दूर्वा अष्टमी के दिन दूर्वा यानि गणेश जी को चढ़ाई जाने वाली घास का पूजन किया जाता है। धार्मिक मान्यताएं है कि दूर्वा अष्टमी के दिन दूर्वा की पूजा करने से जातक को वंश का कभी क्षय नही होता है। साथ ही साथ दुर्वा की ही भांति कुल में वृद्धि होती है तथा समस्त प्रकार की मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

महालक्ष्मी व्रत की बात करें तो ये व्रत करमे से जीवन में धन, संपदा के साथ-साथ सुख-समृद्धि भी बढ़ती है। पंचांग के अनुसार भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि से शुरू होकर ये महालक्ष्मी व्रत आश्विन माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि तक चलता है। जो 16 वें समाप्त होता है।

यहा विस्तार से जानें आज का पंचांग-

सूर्योदय- 06:22 ए एम

सूर्यास्त- 06:59 पी एम

चन्द्रोदय- 12:26 पी एम

चन्द्रास्त- 12:00 ए एम, अगस्त 26

शक सम्वत- 1942 शर्वरी

विक्रम सम्वत- 2077 प्रमाथी

गुजराती सम्वत- 2076 विरोधकृत्

अमान्त महीना- भाद्रपद

पूर्णिमान्त महीना- भाद्रपद

वार- मंगलवार

पक्ष- शुक्ल पक्ष

तिथि- सप्तमी – 12:21 पी एम तक

नक्षत्र- विशाखा – 01:59 पी एम तक

योग- इन्द्र – 09:50 पी एम तक

करण- वणिज – 12:21 पी एम तक

द्वितीय करण- विष्टि – 11:27 पी एम तक

सूर्य राशि- सिंह

चन्द्र राशि- तुला – 08:17 ए एम तक

राहुकाल- 03:49 पी एम से 05:24 पी एम

गुलिक काल- 12:40 पी एम से 02:15 पी एम

यमगण्ड- 09:31 ए एम से 11:06 ए एम

अभिजित मुहूर्त- 12:15 पी एम से 01:06 पी एम

दुर्मुहूर्त- 08:53 ए एम से 09:44 ए एम

दुर्मुहूर्त- 11:32 पी एम से 12:18 ए एम, अगस्त 26

अमृत काल- 03:04 ए एम, अगस्त 26 से 04:36 ए एम, अगस्त 26

वर्ज्य- 05:50 पी एम से 07:22 पी एम

 

यह भी देखें

Horoscope: जानिए किसे मिलेगी सफलता, किसे होना पडे़गा निराश

Lalita Saptami 2020: इस दिन होती है राधा रानी की प्रिय सखी की देवी ललिता की पूजा

Mahalaxmi Vrat 2020: आज से लगातार 16 दिन होगी देवी लक्ष्मी की आराधना, धन-ऐश्वर्य की होगी प्राप्ति

About News Desk

Check Also

Aaj ka Rashifal: जानें कैसा बीतेगा आपका आज का दिन

जानें इन राशि वालों का कैसा बीतेगा आज का दिन किन राशि वालों को होगा …