Breaking News

सस्पेंड सांसदों को चाय पिलाने पहुंचे उपसभापति हरिवंश, रखेंगे एक दिन का उपवास

  • रविवार को हंगामे के बाद किया गया था 8 सांसदों को सस्पेंड
  • संसद परिसर में गांधी प्रतिमा के पास बैठे हैं धरना पर
  • चाय नाश्ता लेकर पहुंचे उप सभापति हरिवंश

नेशनल डेस्क: रविवार को राज्यसभा में कृषि संबंधी विधेयकों पर चर्चा के दौरान विपक्षी सांसदों ने भारी हंगामा किया। विपक्षी सांसदो ने उप सभापति के आसन पर जोरदार हंगामा किया,कागज फाड़े, मार्सल से हाथापाई की। सोमवार को सांसदों की इस हरकत पर कार्रवाई हुई और 8 सांसद निलंबित किए गए। निलंबन के बाद ये संसद परिसर में गांधी प्रतिमा के पास धरने पर बैठ गए और तब से अब तक बैठे हैं। रातभर उनका धरना जारी रहा, लेकिन मंगलवार की सुबह धरना स्थल से मंगलमय तस्वीर आई। जब निलंबित किए गए 8 सांसदों के लिए चाय और नाश्ता लेकर खुद पहुंचे उप सभापति हरिवंश, लेकिन सांसदों ने उनके इस आग्रह अस्वीकार कर दिया। विपक्ष के सांसदों के व्यवहार के खिलाफ उपसभापति हरिवंश एक दिन का उपवास रखेंगे।

विपक्ष ने रविवार को राज्यसभा में हुए हंगामे के चलते सोमवार को आठ विपक्षी सदस्यों को निलंबित किए जाने को लेकर सरकार पर हमला बोला तथा इस कदम के विरोध में संसद भवन परिसर में प्रदर्शन किया। सोमवार को राज्यसभा से निलंबित 8 विपक्षी सांसद रातभर धरने पर बैठे रहे, धरना अब भी जारी है। इस बीच राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश उनके लिए सुबह की चाय और नाश्ता लेकर पहुंचे। बता दें कि उपसभापति से असंसदीय व्यवहार करने की वजह से ही सांसदों को निलंबित किया गया है। इन सांसदों ने रविवार को कृषि बिलों के विरोध में राज्यसभा में हंगामा किया था। सदन की रूलबुक फाड़ दी और माइक तोड़ने की कोशिश भी की थी।

हरिवंश ने सांसदों से कहा कि वो व्यक्तिगत तौर पर इसलिए मिलने के लिए आए हैं क्योंकि वो सभी उनके सहयोगी हैं। लेकिन इन सांसदों ने कहा कि अगर व्यक्तिगत तौर पर मिलना है तो या तो हरिवंश सांसदों के घर आएं या सांसदों को अपने घर बुलाएं। आप नेता संजय सिंह बोले, “हमने उप सभापति जी को कहा कि किसान विरोधी काला क़ानून वापस लो।”रविवार को राज्यसभा में जिस कदर हंगामा हुआ, उसकी वजह से सभापति वेंकैया नायडू ने इन सांसदों को सस्पेंड किया था। इसके बाद सभी 8 निलंबित सांसद गांधी मूर्ति के सामने धरने पर बैठ गए। निलंबित किए गए सदस्यों में तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन और डोला सेन, कांग्रेस के राजीव सातव, सैयद नजीर हुसैन और रिपुन बोरा, आप के संजय सिंह, माकपा के केके रागेश और इलामारम करीम शामिल हैं। सभी सांसद रविवार को कृषि विधेयक पर चर्चा के दौरान सदन में विरोध कर रहे थे।

About News Desk

Check Also

National news: पीएफआई के निशाने पर थे 5 आरएसएस के नेता, केंद्र सरकार ने दी वाई कैटेगरी की सुरक्षा

पीएफआई की हिट लिस्ट में आरएसएस नेताओं के नाम आरएसएस के 5 नेताओं को मिली …