Breaking News

मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल पर प्रशासन ने की बड़ी कार्रवाई, फार्म हाउस समेत करोड़ों की बेनामी संपत्ति कुर्क

  • मुख्तार अंसारी के परिवार पर बड़ी कार्रवाई

  • भाई अफजल की फार्म हाउस समेत 3 प्रॉपर्टी कुर्क

  • 12 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति कुर्क

यूपी डेस्क: बाहुबली मुख्तार अंसारी के भाई और गाजीपुर के सांसद अफजाल अंसारी की मुसीबत कम होने का नाम नहीं ले रही है। ईडी की ताबड़तोड़ रेड के बाद अब जिला प्रशासन ने अफजाल अंसारी पर शिकंजा कसा है और बसपा सांसद की करीब 12 करोड़ रुपए की संपत्तियों को जब्त किया है। शुक्रवार की दोपहर गाजीपुर के एसपी रोहन पी बोत्रे और मोहम्मदाबाद तहसीलदार विजय प्रताप सिंह के नेतृत्व में भारी फोर्स के साथ कुर्क की कारवाई की गई। बता दें कि ईडी यानी प्रवर्तन निदेशालय ने बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में जांच के सिलसिले में भाई अफजल अंसारी के घर पर गुरुवार को छापेमारी की थी।

यह भी पढ़ें: 19 अगस्त 1942 को बलिया को स्वतंत्र किया था घोषित, सीएम योगी का जिले की तासीर से खास लगाव

ईडी की छापेमारी के बाद जिला प्रशासन ने बसपा सांसद अफजाल अंसारी पर एक और बड़ी कार्रवाई की। जिला प्रशासन ने गाजीपुर मुहम्मदाबाद के माचा गांव में 12.35 करोड़ की सम्पत्ति कुर्क की है। प्रशासन ने अफजाल अंसारी का फार्म हाउस कुर्क किया है, जो अफजाल की पत्नी और बेटियों के नाम पर है। इतना ही नहीं, पुलिस ने अफजाल के फार्म हाउस समेत 2 अन्य खेत भी कुर्क किए हैं। पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट 14(1) के तहत यह कार्रवाई की है।

बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश पुलिस ने जुलाई में गैंगस्टर अधिनियम के तहत अफजल अंसारी की 14.90 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्ति जब्त की थी। गाजीपुर जिले से सांसद अफजाल अंसारी माफ‍िया मुख्तार अंसारी के बड़े भाई हैं। अफजाल अंसारी ने गाजीपुर लोकसभा से 2019 लोकसभा चुनाव में जीत हासिल की थी। अफजाल अंसारी ने इस चुनाव में भाजपा नेता मनोज सिन्‍हा को 119392 मतों के अंतर से हराया था। मुख्‍तार पर कार्रवाई के बाद से ही मुख्तार के करीबियों पर ईडी की नजर बनी हुई थी। गुरुवार की सुबह मुख्‍तार और अफजाल के करीबी गणेश मिश्रा, एक बस मालिक व एक अन्‍य उद्यमी के यहां ईडी की छापेमारी हुई थी।

यह भी पढ़ें: बसपा अध्यक्ष मायावती का योगी सरकार पर हमला, कहा- उत्तर प्रदेश में कायम है जंगल राज

About Ravi Prakash

Check Also

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में फीस वृद्धि के विरोध में आमरण अनशन पर बैठे तीन छात्रों की निकाली गई शव यात्रा

फीस वृद्धि के विरोध में आमरण अनशन पर बैठे छात्र अनशन पर बैठे तीन छात्रों …