Breaking News

Basant Panchami 2023: मां सरस्वती की पूजा का विशेष महत्व

  • बसंत पंचमी के दिन न करें ये काम 

  • मां सरस्वती की पूजा का विशेष महत्व

  • इन कामों को करने से मां होगी क्रोधित

Basant Panchami 2023: इस साल 2023 में बसंत पंचमी 26 जनवरी को है। बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा का विशेष महत्व है। मां को खुश करने के लिए भक्त सच्ची भक्ति के साथ मां को पीले फूलों अर्पित करें और मिठाई का भोग लगाए। धार्मिक शास्त्रों में बताया गया है कि बसंत पंचमी के दिन कुछ ऐसे काम है, जिन्हें गलती से भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि इन कामों को करने से मां क्रोधित हो जाती है।

बसंत पंचमी के दिन न करें ये काम 

पौधों को नुकसान 

बसंत पंचमी के दिन पेड़-पौधों की कटाई-छटाई न करें। क्योंकि बसंत पंचमी से ही बसंत ऋतु शुरु होती है। तो इसलिए इस दिन पौधों को लगाएं। ना कि पौधों को नुकसान पहुंचाएं। पेड़-पौधे लगाने से आपके जीवन में सकारात्मक असर दिखाई देगा।

किसी को बुरा-भला न कहें

बसंत पंचमी के दिन सभी से प्रेम-भाव से बोले। इस दिन झूठ न बोले। क्योंकि मनुष्य की जीभ में मां सरस्वती आसीन होती हैं तो कभी कदार बोले गए शब्द सच हो जाते हैं। तो जो भी बोले अच्छा ही बोले।

काले वस्त्र

बसंत पंचमी के दिन पीले वस्त्र ही पहनें। क्योंकि मां सरस्वती की जन्म के समय पूरी धरती पीले रंग में रंगी हुई थी। इस वजह से गलती से भी काले कपड़े न पहने। रंग हमारे जीवन में काफी महत्ता रखते हैं।

किताबों का सम्मान करें

बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा के साथ पेन, कॉपी-किताब की पूजा भी करें। इस दिन कॉपी-किताब के पन्ने न फड़ें।

तामसिक भोजन न करें 

मां सरस्वती की पूजा के दिन मदिरा और तामसिक भोजन का सेवन गलती से भी नहीं करना चाहिए।

स्नान करें

इस दिन स्नान करने से पहले कुछ खाएं नहीं। मां की पूजा करने के बाद ही भोजन ग्रहण करें। ध्यान से भोजन भी पीला ही बनाएं। क्योंकि बसंत में पीला रंग बहुत महत्व रखता है।

About Ragini Sinha

Check Also

LIC को तगड़ा झटका, अडानी के शेयर मूल्य में 22 फीसदी की गिरावट

एलआईसी को लगा तगड़ा झटका अडानी के शेयर मूल्य में 22 फीसदी की गिरावट एलआईसी …