Thursday, July 7, 2022
Home उत्तर प्रदेश राहुल गांधी का बड़ा खुलासाः यूपी चुनाव से पहले मायावती को दिया...

राहुल गांधी का बड़ा खुलासाः यूपी चुनाव से पहले मायावती को दिया था बड़ा आफर, जाने क्या है पूरा मामला

  • बीएसपी सुप्रीमों को कांग्रेस ने गठबंधन करने और प्रदेश की मुख्यमंत्री तक बनाने का आफर दिया था
  • राहुल ने कहा ईडी, सीबीआई से डरीं मायावती

नेशनल डेस्क। यूपी में हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा को लगातार दूसरी बार बम्पर जीत मिली है। सपा को हालांकि इस चुनाव में खासा फायदा हुआ लेकिन वह भी बहुमत के आंकड़े से काफी दूर थी। कांग्रेस और बसपा का इस चुनाव में पहले की तरह ही बुरा हाल था उसे करारी हार का सामना करना पड़ा था। इस बीच आज कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने यूपी चुनाव को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है। राहुल के अनुसार उनकी पार्टी ने इस चुनाव में मायावती को एक बड़ा आफर दिया था लेकिन उन्होंने बात तक नहीं की।

मायावती को सीएम बनने का दिया था आफर

राहुल गांधी ने आज एक कार्यक्रम में खुलासा किया कि उनकी पार्टी ने बीएसपी (BSP) के साथ चुनाव लड़ने का सोचा था। इसके लिए चुनाव से पहले बीएसपी सुप्रीमों मायावती को गठबंधन करने और प्रदेश की मुख्यमंत्री तक बनाने का आफर दिया था, लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। राहुल ने कहा कि कांशीराम ने यूपी में दलितों की आवाज उठाई थी लेकिन इस बार मायावती दलितों की आवाज के लिए नहीं लड़ीं।

ईडी, सीबीआई से डरीं मायावती, भाजपा को दिया खुला मैदान

 

यूपी विधानसभा चुनाव पर बोलते हुए राहुल ने कहा कि बीएसपी ने इस बार पूरी ताकत से चुनाव नहीं लड़ा। इसके कारण मायावती ने भाजपा को खुला मैदान दे दिया। राहुल ने आगे कहा कि मायावती ने यह सब इसलिए किया क्यूंकि वह ईडी, सीबीआई और और पेगासस से डर गईं थी। उन्होंने ये भी कहा कि, कमजोर हो रही देश की संवैधानिक संस्थाओं को मजबूत करने की जरूरत है। वह बोले कि अगर हमारे संस्थान कमजोर हुए तो देश भी कमजोर हो जाएगा। यहां उन्होंने एक बार फिर आरएसएस और भाजपा पर भी जमकर हमला बोला।

कांग्रेस-बीएसपी दोनों की हुई थी करारी हार

बता दें कि इस बार के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और बीएसपी (BSP) अकेले दम पर चुनावी मैदान पर उतरी थीं और सभी सीटों पर चुनाव लड़ा था। हालांकि दोनों ही पार्टियों को करारी हार का सामना करना पड़ा था। कांग्रेस को जहां 2 सीट मिलीं तो वहीं बीएसपी के खाते में केवल 1 सीट गई थीं। दूसरी ओर भाजपा गठबंधन को 273 तथा समाजवादी पार्टी गठबंधन को 125 सीट मिली थी।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com