Breaking News

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 : रामविलास पासवान ICU में हुए भर्ती, फिलहाल बिहार में सीटों का बँटवारा टला

  • रामविलास पासवान की तबियत बिगड़ी
  • चिराग पासवान ने संभावित प्रत्याशियों को लिखा पत्र
  • चिराग का कहना — जल्द स्वस्थ होकर सबके बीच आएँगे रामविलास पासवान

नेशनल डेस्क : रामविलास पासवान की तबियत बिगड़ गयी है, जिसकी वजह से उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया है। बता दें कि पिछले महीने 24 अगस्त से पासवान दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती हैं, शुरुआत में वह रूटीन चेकअप के लिए अस्पताल में भर्ती हुए थे लेकिन अब उनकी हालत ज़्यादा बिगड़ गई है।

लोजपा अध्यक्ष ने भावुक पत्र लिख दी जानकारी

 

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए अपनी पार्टी के संभावित प्रत्याशियों को चिराग पासवान ने एक भावुक पत्र लिख बताया— फिलहाल वो बिहार नहीं आ पाने के लिए विवश हैं। क्योंकि उनके पिता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान दिल्ली के एक अस्पताल के आईसीयू में भर्ती हैं और उनका ज्यादा समय उन्हीं की देखभाल में बीत रहा है। चिराग का कहना है कि उनके पिता ने उन्हें कई बार बिहार जाने की सलाह दी है लेकिन उनकी तबीयत को देखते हुए ऐसा कर पाना मुमकिन नहीं हो रहा है। चिराग पासवान के मुताबिक़, ‘राम विलास पासवान बीमारी से लड़ रहे हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि रामविलास पासवान जल्द स्वस्थ होकर सबके बीच आएंगे।’

सींटों के बँटवारे का भी ज़िक्र पत्र में किया

लोजपा अध्यक्ष ने अपने पत्र में यह साफ किया है कि ‘अब तक बिहार में एनडीए के साथियों से सीटों के तालमेल और बिहार के भविष्य को लेकर कोई बातचीत नहीं हुई है।’ चिराग पासवान के पत्र से यह भी साफ हो रहा है कि अब तक नीतीश कुमार के खिलाफ उनकी तल्खी में भी कोई कमी नहीं आई है।

चिराग ने लिखा है कि फिलहाल बिहार सरकार जिस सात निश्चय कार्यक्रम पर काम कर रही है वह एनडीए का एजेंडा नहीं है। चिराग का कहना है कि 2015 चुनाव में सात निश्चय कार्यक्रम महागठबंधन का एजेंडा था ना कि बीजेपी और एलजेपी का। उस वक्त महागठबंधन में जेडीयू के साथ आरजेडी और कांग्रेस थी।

About News Desk

Check Also

Chhattisgarh: दुर्ग में बच्चा चोरी का शक होने पर साधुओं की लोगों ने की पिटाई

दुर्ग में साधुओं की लोगों ने की पिटाई लोगों को था बच्चा चोरी का शक …