Breaking News

सुनील शेट्टी ने योगी आदित्यनाथ से मांगी मदद, बॉलीवुड को लेकर कही ये बात

  • सुनील शेट्टी ने योगी आदित्यनाथ से मांगी मदद

  • ‘बॉयकॉट ट्रेंड से जूझ रही फिल्म इंडस्ट्री को बचाइए’

  • फिल्म व्यवसाय #BoycottBollywood के प्रभावों से जूझ रहा है

Boycott Bollywood : सुनील शेट्टी ने योगी आदित्यनाथ से मांगी मदद ,बोले बॉयकॉट ट्रेंड से जूझ रही फिल्म इंडस्ट्री को बचाइएफिल्म इंडस्ट्री ने बीती रात मुंबई में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की, वहीँ उनसे मुलाकात करने वालों में बॉलीवुड एक्टर सुनील शेट्टी भी मौजूद थे, वो वहां बॉलीवुड का प्रतिनिधित्व करने वालों में से एक थे, उन्होंने मुख्यमंत्री से हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को लोगों से अपना सम्मान और प्यार वापस पाने में मदद करने का आग्रह किया। उनके शब्दों ने सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया दरअसल सुनील शेट्टी ने बॉलीवुड के खिलाफ चल रहे #BoycottBollywood ट्रेंड बात की और ये भी स्वीकार किया कि फिल्म व्यवसाय इसके प्रभावों से जूझ रहा है। आइये जानते हैं कि सुनील शेट्टी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से क्या कुछ कहा।

मुंबई में आयोजित एक हाई-प्रोफाइल कार्यक्रम में सुनील शेट्टी ने बहुत महत्वपूर्ण चर्चा करने के बारे में मीडिया से बात की। उन्होंने कहा, ” इवेंट और मूड शानदार थे क्योंकि इरादे शानदार थे। कार्यक्रम में बहुत सारे लोग शामिल थे, किसी ने मनोरंजन पार्क (यूपी में) के लिए कहा, किसी ने थिएटर की क्वांटिटी बढ़ाने के लिए कहा। मैंने (कार्यक्रम में) हमारे फिल्म इंडस्ट्री के लिए कुछ मदद मांगी क्योंकि हम शायद अब तक के सबसे बुरे दौर में हैं। मैंने इंडस्ट्री को पुनर्जीवित करने और अपना सम्मान वापस पाने के लिए मदद मांगी। मेरा मानना है कि एक सड़ा हुआ सेब का मतलब ये नहीं है कि पूरा पेड़ सड़ा हुआ है।”

उन्होंने आगे कहा, ‘मैंने और कुछ नहीं मांगा। सब्सिडी मिल जाएगी, फैसला होगा…मुनाफा होगा सब ठीक है, लेकिन दर्शकों के लिए भी तो चाहिए ना, वो प्यार भी तो चाहिए ना। इसलिए, मैंने जो कुछ भी मांगा वो प्यार था। और इसे सार्वजनिक मंच पर पूछने में कोई हर्ज नहीं है। जब आपको मदद की जरूरत होती है, तो आपको मदद की जरूरत होती है और जो भी उस यात्रा में आपकी मदद कर सकता है, वो बिल्कुल ठीक है।”

सुनील ने आग्रह किया कि ये समय है #Boycott बॉलीवुड को भूल जाने का और लोग एक बार फिर खुले दिल से हिंदी फिल्मों को स्वीकार करें, क्योंकि इस तरह के रुझान सिर्फ एक्टर्स को ही नहीं बल्कि अन्य प्रतिभाओं को भी प्रभावित करते हैं, जो विभिन्न विभागों से जुड़े हैं। उन्होंने आगे कहा, “मेरा बस यही कहना है कि अगर मैं कुछ गलत करता हूं, अगर मैं खुद को गलत तरीके से पेश करता हूं, तो मुझे फांसी पर लटका दो और मुझे बैन कर दो, लेकिन मेरी इंडस्ट्री पर प्रतिबंध मत लगाओ क्योंकि इससे हजारों श्रमिक जुड़े हैं। आखिरकार, फिल्म इंडस्ट्री केवल एक्टर्स के बारे में नहीं है। ये विभिन्न स्तरों और विभिन्न चरणों के लोगों के बारे में है, स्पॉट बॉय, बढ़ई, डांसर्स सभी से लेकर और ये सभी फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा हैं। मैं प्रार्थना करता रहता हूं और कामना करता हूं कि हमारे सुनहरे दिन वापस आएं। हमने संगीत के जरिए दुनिया को जोड़ा है। जन्मदिन या नामकरण समारोहों में, यह हमारा संगीत है जो बजाया जाता है, और लोग इसका आनंद लेते हैं।

“जैसा कि मैंने पहले कहा, मैंने जमीन का एक टुकड़ा नहीं मांगा, मैंने ये नहीं कहा कि मुझे अपनी एक फिल्म के लिए सब्सिडी की जरूरत है, मैंने सिर्फ इतना कहा कि इंडस्ट्री को अपने पैरों पर खड़ा होने में मदद करें। मैं जहां भी जाता हूं, बस यही मांगता हूं, चाहे वो मीडिया के मेरे दोस्त हों या कोई भी हो। योगी जी हमारी इंडस्ट्री से मिलना चाहते थे और हमारी बात सुनना चाहते थे। हम अभी बैक फुट पर हैं और किसी को आगे आने की जरूरत है। मुझे पता है कि मुझे उन लोगों से ढेर सारी गालियां मिलेंगी जो बॉलीवुड का बहिष्कार करना चाहते हैं। वे मुझे गाली देंगे और कहेंगे, ‘ये तो फ्लॉप एक्टर है, वगैरह’ पर वो सब मुझे चलेगा।’

इस कार्यक्रम में उन्होंने जो बिंदु उठाए, उसके लिए सुनील को कल रात यूपी के सीएम से जवाब मिला, जिन्होंने कहा, “ऐसे लोग थे जिन्होंने भगवान राम पर भी आरोप लगाया था और इस तरह के आरोप हर जगह लगाए जाते हैं। हमें इन पर ध्यान नहीं देना चाहिए और सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ आगे बढ़ना चाहिए। फिल्मों ने राष्ट्रीय अखंडता और समाज को जोड़ने में योगदान दिया है। हिंदी फिल्मों द्वारा हिंदी का प्रचार-प्रसार सराहनीय है। हमें सकारात्मक पहलुओं को देखना होगा।”

इस पर सुनील कहते हैं, ‘योगी जी ने काफी सकारात्मक प्रतिक्रिया दी और मैं इससे खुश हूं। नई शुरुआत यूपी जैसे राज्य से खूबसूरती से हो सकती है, क्योंकि जब हिंदी फिल्मों की बात आती है तो यूपी और बिहार भारत के हार्टलैंड हैं। बोलते हैं की यूपी, बिहार में फिल्म चल गयी तो अखिल भारत में फिल्म का डंका बज जाता है। यूपी हमेशा से एक ऐसा राज्य रहा है जहां हमने अपनी फिल्मों की शूटिंग की है और उनका आनंद लिया है। मैं यूपी, बिहार की बदौलत एक्शन हीरो बन गया। वो प्यार अब भी जारी है। मुझे इस बारे में बात करनी थी।”

About Ragini Sinha

Check Also

लखीमपुर खारी हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा जेल से रिहा,सुप्रीम कोर्ट से मिली है सशर्त जमानत

आशीष मिश्रा जेल से हुए रिहा 14 मार्च को होगी सुप्रीम कोर्ट में अगली सुनवाई …