Breaking News

Delhi: 32 साल पहले की वारदात, 22 सालों से भगोड़ा घोषित, 70 की उम्र में गिरफ्तार

  • 22 वर्षों से भागे चोर को पुलिस ने किया गिरफ्तार
  • आरोपी की उम्र 70 वर्ष, 32 साल पहले एक वारदात को दिया था अंजाम
  • आरोपी का एक साथी कुछ दिन पहले ही हुआ गिरफ्तार

नेशनल डेस्क:पुलिस ने एक दिलचस्प केस को अंजाम दिया है। पुलिस ने एक ऐसे चोर को पकड़ा है, जिसने 32 साल पहले एक वारदात को अंजाम दिया और 22 सालों से यह आरोपी भगोड़ा घोषित था। इस चोर का नाम फजरू है और यह 70 वर्ष की उम्र में गिरफ्तार हुआ है।

इस बुजुर्ग चोर के एक साथी दीनू को भी भगोड़ा घोषित किया गया था। जिसे मंदिर मार्ग थाना पुलिस ने 29 अगस्त को गिरफ्तार किया था। दीनू कि उम्र 60 साल है। नई दिल्ली जिला डीसीपी डा. ईश सिंघल के अनुसार, मंदिर मार्ग पुलिस स्टेशन हेड विक्रमजीत सिंह की देखरेख में एएसआई इंद्रपाल सिंह व एसआई जयसिंह की टीम ने बुजुर्ग आरोपी फजरू को उसके गांव बहादुरी से 1 सितंबर को गिरफ्तार किया। बहादुरी गांव जिला अलवर राजस्थान में स्थित है।

बता दे, इन दोनों चोर ने 1989 में दिल्ली में चोरी की वारदात को अंजाम दिया था। इनके साथ इनका एक और साथी भी मौजूद था। तीनों ने मिलकर अंबेडकर नगर की एक दुकान का शटर तोड़कर दुकान से काफी कैश और महंगे- महंगे कपड़े चोरा लिए थे। हालांकि इस वारदात को अंजाम देने के बाद अंबेडकर नगर थाना पुलिस ने इन तीनों को उस समय गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने इनसे चुराए गए कपड़े बरामद कर लिए थे। आरोपी चोर फजरू को कोर्ट ने बाद में जमानत पर रिहा कर दिया था। लेकिन इसके बाद फजरू कभी भी कोर्ट में पेश नहीं हुआ और कोर्ट ने इसे 4 जून 1998 को भगोड़ा घोषित कर दिया था।

यह आरोपी रात के समय दुकानों को अपना निशाना बनाते थे । दुकानों से पैसे और सामान ले जाया करते थे। फजरू एक शातिर अंतर्राज्यीय सेंधमार था। चोरी के साथ में यह गौवंश को भी दिल्ली से उठाकर ले जाते थे। राजस्थान व हरियाणा पुलिस चार बार कई केसों में इसे गिरफ्तार कर चुकी है। फजरू राजस्थान और हरियाणा जेल के अलावा दिल्ली के तिहाड़ जेल में भी बंद रह चुका है।

About Misbah Khanam

Check Also

National news: मुंबई के कांदिवली में बाइक सवारों ने की अंधाधुंध फायरिंग, एक की मौत, तीन लोग घायल

कांदिवली में बाइक सवारों का आतंक 2 लड़कों ने 4 राउंड किए फायर गोलीबारी में …