Breaking News

बस्ती में दलित महिला प्रधान की हत्या, प्रियंका बोलीं- UP में अपराधियों का राज संविधान और कानून पर हावी

 

  • उत्तर प्रदेश में बढ़ रहा दलितों और कमजोर वर्गों के खिलाफ अपराध
  • अब बस्ती में महिला ग्राम प्रधान की हत्या

यूपी डेस्क: उत्तर प्रदेश में दलितों और कमजोर वर्गों के खिलाफ हो रही घटनाएं बढ़ती जा रही है। आजमगढ़ में दलित प्रधान सत्यमेव जयते की हत्या के बाद अब बस्ती से महिला ग्राम प्रधान की हत्या की खबर सामने आई है। आरोप है कि बस्ती जिले के परसरामपुर थानांतर्गत नेवादा ग्राम पंचायत में प्रधानी चुनाव की रंजिश में महिला ग्राम प्रधान की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

बस्ती में हुई इस घटना और लगातार सूबे में दलितों की हत्या को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने निशाना साधा है। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर लिखा है कि वंचित तबकों और महिलाओं का पंचायती राज व्यवस्था में प्रतिनिधित्व हो इसके लिए संविधान में व्यवस्था की गई। लेकिन यूपी में कुछ दिनों पहले आजमगढ़ में सत्यमेव जयते की हत्या और अब बस्ती में प्रभावती की हत्या हो जाना साफ दिखाता है कि यहां अपराधियों का राज संविधान और कानूनी राज पर हावी है

 

 

 

 

 

 

 

 

 

बता दें, आरोप है बस्ती के परसरामपुर थानांतर्गत नेवादा ग्राम पंचायत में प्रधानी चुनाव की रंजिश में महिला ग्राम प्रधान की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। महिला प्रधान ने जिला अस्पताल अयोध्या ले जाते वक्त रास्ते में दम तोड़ दिया। शव घर पर छोड़कर प्रधान का पुत्र तहरीर देने थाने पहुंचा तो हड़कंप मच गया। उसने गांव के आधा दर्जन से अधिक लोगों को नामजद करते हुए तहरीर दी है। वहीं पुलिस अभी किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है। महिला प्रधान की मौत कैसे हुई, इसकी जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

वहीं हत्या की सूचना पर अपर पुलिस अधीक्षक रविन्द्र कुमार सिंह ने नेवादा गांव पहुंचकर मौका मुआयना किया और बयान दर्ज किए। शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस का कहना है कि महिला ग्राम प्रधान की मौत के घटनाक्रम की अभी जांच कराई जा रही है। छानबीन में जो तथ्य सामने आएंगे, उसके आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

 

About News Desk

Check Also

UP News: लखनऊ की सीबीआई कोर्ट ने अंडर वर्ल्ड डॉन अबु सलेम को सुनाई 3 साल की सजा

अंडर वर्ल्ड डॉन अबु सलेम को सुनाई 3 साल की सजा लखनऊ की सीबीआई कोर्ट …