Breaking News

उत्तर प्रदेश: भाजपा विधायक का हार्ट अटैक से निधन, लोहिया संस्थान में ली अपनी अंतिम सांस

  • बसपा से जीता था पहली बार विधायक का चुनाव
  • तीसरी बार विधायक चुने गए थे,जन्मेजय सिंह

नेशनल डेस्क: उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले की सदर सीट के बीजेपी विधायक जन्मेजय सिंह का गुरुवार देर रात लखनऊ में निधन हो गया है। उन्होंने राम मनोहर लोहिया अस्पताल में अपनी अंतिम सांस ली। विधायक जन्मेजय की मौत हार्ट अटैक से हुई है। वह 75 वर्ष के थे। पिछले कुछ महीनों से जन्मेजय सिंह बीमार चल रहे थे।

लोहिया संस्थान के प्रवक्ता और एमएस डॉ. विक्रम सिंह के अनुसार, स्पीड मेकर लगाने के दौरान उनकी मृत्यु हो गई।   इससे पहले सिविल अस्पताल में उनके कोरोना वायरस के संक्रमण की रिपोर्ट नकारात्मक आई थी। विधायक जनमेजय सिंह इससे पहले बसपा से विधायक भी रहे हैं।

जन्मेजय सिंह के निधन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव तक ने ट्वीट कर शोक संवेदना जताई है। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीय कर कहा, देवरिया सदर विधान सभा क्षेत्र के विधायक श्री जन्मेजय सिंह के आकस्मिक निधन की खबर सुनकर शोक हुआ। श्री सिंह के निधन से पार्टी ने एक समर्पित कार्यकर्ता तथा जनता ने अपना सच्चा हितैषी खो दिया है। प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि उनकी आत्मा को अपने श्री चरणों मे स्थान दें। ॐ शांति

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी जन्मेजय के निधन पर ट्वीट कर कहा, देवरिया सदर सीट से भाजपा विधायक श्री जन्मेजय सिंह जी का निधन अत्यंत दुखद!  दिवंगत आत्मा को शांति एवं शोकाकुल परिवार को दुख सहन करने की शक्ति दे भगवान।

बता दें,  2007 में वह बीजेपी में शामिल हो गए थे। इसके बाद उत्तर प्रदेश की 16वीं और 17वीं विधान सभा के सदस्य रहे. उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के सदस्य के रूप में देवरिया निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया। जन्मेजय सिंह 2012 में बसपा प्रत्याशी प्रमोद सिंह को हराकर बीजेपी विधायक बने थे। बीजेपी से लगातार दो बार से देवरिया सदर विधानसभा सीट विधायक थे। 2017 में उन्होंने सपा के उम्मीदवार जेपी जायसवाल को बड़े अंतर से मात देकर अपनी राजनीतिक ताकत का एहसान कराया था।

About Misbah Khanam

Check Also

Mukhtar Ansari: गैंगस्टर के मामले में माफिया मुख्तार अंसारी दोषी करार, पांच साल की मिली सजा

माफिया मुख्तार अंसारी की मुसीबतें बढ़ी इलाहाबाद हाई कोर्ट ने सुनाई की पांच साल की …