Breaking News

Vishwakarma puja: राशि अनुसार करें ये उपाय, सुख-समृद्धि के साथ मिलेगी अपार धन-संपत्ति

  • अश्विन मास के कृष्ण पक्ष में आती है विश्वकर्मा पर्व
  • इस दिन व्यापारी , शिल्पकारी करके हैं विश्वकर्मा पूजा
  • मिलता है सुख समृद्धि का आशीर्वाद
  • राशि अनुसार करें ये उपाय

धर्म डेस्क: हर साल अश्विन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि के दिन विश्वकर्मा पूजा की जाती है इस बार यह तिथि 16 सितंबर दिन बुधवार को पड़ रही है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन भगवान विश्वकर्मा का जन्म हुआ था जिन के उपलक्ष में पूजन आदि करने की मान्यता है। कहा जाता है कि इस दिन इनकी पूजा करने से जीवन में सुख समृद्धि के साथ-साथ धन्य जाने की भी प्राप्ति होती है। बता दे खासतौर पर इस दिन भगवान  विश्वकर्मा की पूजा कलाकार, शिल्पकार तथा व्यापारी के लिए विशेष मानी जाती है।  तो चलिए आपको बताते हैं इस दिन राशि अनुसार कौन से उपाय करने से भगवान विश्वकर्मा की कृपा प्राप्त होती है।

मेष- इस राशि के लोगों को विश्वकर्मा पूजा के दिन केसरिया रंग के वस्त्र धारण करने चाहिए।

वृष- इस राशि के लोगों पान विश्वकर्मा की पूजा के साथ-साथ श्री कुबेर जी के नाम की 11 माला जाप करें।

मिथुन- आप पूजा के दिव कलश स्थापना के लिए जो रंगोली बनाएं उसमें हरे रंग का इस्तेमाल अधिकतर करें। ध्यान रहे गणपति भगवान के सतनाम के पाठ कि विश्वकर्मा भगवान का पूजन करें।

कर्क- इस राशि के लोग भगवान विश्वकर्मा की पूजा के दिन अपनी क्षमता अनुसार गरीबों में सफेद अन्न  वितरित करें।

सिंह- इस राशि के लोग भगवान विश्वकर्मा की पूजा के दिन स्नान आदि करने के बाद सबसे पहले भगवान सूर्य को जल  दें, जिसमें पानी में रोली लाल फूल गुड़ जरूर हो।

कन्या-  कन्या राशि के लोग भी विश्वकर्मा भगवान की पूजा में इस्तेमाल होने वाले कलश में जल रोली, लाल फूल तथा गुड़ अवश्य डालें।

तुला- इस राशि के लोग नीले रंग के वस्त्र धारण कर भगवान विश्वकर्मा के 108 नामों का स्मरण करें।

वृश्चिक- इस राशि के लोग पूजा में जो कलश स्थापित करें उस पर लाल रंग की रंगोली करें एवं साबुत लाल मसूर गाय को खिलाएं।

धनु-  इस दिन भगवान विश्वकर्मा की पूजा का दुगना ला पाने के लिए भगवान गणेश देवों के देव महादेव एवं महागौरी की पूजा करें तथा उन्हें वस्त्र अर्पित करें।

मकर- किसी भी तरीके से भगवान विश्वकर्मा की पूजा करें। तथा यह सुनिश्चित करें कि पवित्र गायत्री मंत्र के सभी उपकरण की शुद्धि हो।

कुंभ- पारिजात के फूलों से भगवान विश्वकर्मा का पूजन करें। मान्यता है कि इससे आसपास की नकारात्मक शक्तियां समाप्त होती है।

मीन- इस दिन भगवान विश्वकर्मा की पूजा के साथ साथ भगवान श्री हरि विष्णु नारायण का भी आशीर्वाद प्राप्त करें।

About News Desk

Check Also

Aaj ka Rashifal: जानें कैसा बीतेगा आपका आज का दिन

जानें इन राशि वालों का कैसा बीतेगा आज का दिन किन राशि वालों को होगा …