पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल पर प्रशासन का शिकंजा, सहारनपुर में कोठियों पर चलाया बुलडोजर

  • हाजी इकबाल की कोठी पर प्रशासन का बुलडोजर

  • सहारनपुर के पॉश कॉलोनी में बनी है कोठी

  • बेनामी संपत्तियों को किया गया चिन्हिंत

यूपी: उत्तर प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ के दूसरे कार्यकाल में खनन माफियाओं पर कार्रवाई लगातार जारी है। इसी कड़ी में योगी सरकार ने बेनामी संपत्ति को लेकर खनन माफिया और पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल पर एक बार फिर बड़ी कार्रवाई की गई है। सहारनपुर में हाजी इक़बाल की कोठी पर सोमवार को प्रशासन ने बुलडोजर चलाया है। हाजी इकबाल की यह कोठी सहारनपुर के पॉश कॉलोनी में बनी है। बुलडोजर शहर में न्यू भगत सिंह कॉलोनी स्थित तीन कोठियों पर चला है। यहां प्राधिकरण ने पहले हाजी इकबाल की एक कोठी बिना सेट बैक छोड़े बनाए जाने के चलते उस पर बुलडोजर की कार्रवाई की। इसके बाद दूसरी कोठी जो कि उनकी भाई पूर्व एमएलसी महमूद अली के नाम पर है उसका भी नगर निकम या प्राधिकरण से नक्शा नहीं पास था। इस कोठी को भी जमींदोज किया गया।

यह भी पढ़ें: नूपुर शर्मा पर ट्वीट कर फंसे अखिलेश यादव, महिला आयोग ने की कार्रवाई की मांग

कोठी ध्वस्तिकरण की कार्रवाई के दौरान तमाम अधिकारी भी वहां पर मौजूद रहें। अपर जिलाधिकारी वित्त और राजस्व रजनीश कुमार मिश्र, एसडीएम सदर किंशूक श्रीवास्तव आदि लोग मौजूद रहें। भारी संख्या में पुलिस फोर्स भी वहां पर रही। आपको बता दें कि पूर्व एमएलसी हाजी इकबाल और उनके परिवार से जुड़े लोगों की तकरीबन 107 करोड़ की 125 संपत्तियों को कुर्क करने का आदेश पहले ही दिया जा चुका था। इसके बाद ही इन संपत्तियों को चिन्हिंत कर कुर्क करने की प्रक्रिया शुरू की गई है। प्रशासन की ओर से यहां लगभग 400 बीघा जमीन पर कब्जा ले लिया गया है।

गौरतलब है कि थाना मिर्जापुर में गैंगस्टर समेत अन्य थानों में दर्ज मुकदमे को लेकर एसएसपी आकाश तोमर की ओर से एसआईटी गठित की गई है। एसआईटी की जांच जारी है। जांच में हाजी इकबाल के स्वज और उनके करीबी लोगों के नाम पर दर्ज बेनामी संपत्तियों को चिन्हिंत किया गया है। पुलिस की जांच के बाद चिन्हिंत की गई बेनामी संपत्तियों की कुर्की के आदेश बी जिलाधिकारी ने शुक्रवार को दिए थे। इसके बाद ही एसएसपी आकाश कुमार ने 107 करोड़ रुपए की 125 संपत्तियों की कुर्की की कार्रवाई शुरू कराई।

यह भी पढ़ें: Maharashtra Political: एकनाथ शिंदे सरकार ने जीता विश्वास मत, 164 विधायकों का मिला समर्थन

About Ravi Prakash

Check Also

उमेश पाल हत्याकांड में पुलिस ने दाखिल की पहली चार्जशीट

उमेश पाल हत्याकांड में नया खुलासा पुलिस ने दाखिल की पहली चार्जशीट आरोप पत्र में …